मेरा विरोध करते करते देश के दुश्मन ना बन जाएं, अपनी सीमा तय करें : मोदी

img

नई दिल्ली
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने सोमवार को एक इंटरव्यू दिया। पीएम ने अपने इंटरव्यू में कांग्रेस समेत समूचे विपक्ष पर जमकर हमला बोला। पीएम ने कांग्रेस के घोषणा पत्र में न्याय और किसान कर्जमाफी को लेकर निशाना साधा। अंतराष्ट्रीय स्तर पर मिले सम्मान पर सवाल उठाने वालों को भी पीएम ने जवाब दिया। जम्मू कश्मीर में लंबे समय के बाद निकाय चुनाव हुए लेकिन कोई हिंसा नहीं हुई। दूसरी ओर पश्चिम बंगाल में स्थानीय निकाय चुनाव में जमकर हिंसा हुई। जहां तक उत्तर प्रदेश की बात है, मैं डंके की चोट पर कह सकता हूं उत्तर प्रदेश की जनता भाजपा सरकार बनाने के लिए मन बना चुकी है। वहां के लोग अच्छे से राजनीति को समझ चुके हैं। इसलिए उत्तर प्रदेश को लेकर कयास लगाना बंद कीजिए। राजनीतिक विरोध चाहे हो, लेकिन मोदी का विरोध करते करते भारत के दुश्मन न बने ये सीमा सबको बनानी चाहिए। मोदी के खिलाफ बोलते बोलते देश के खिलाफ कोई न बोले, ये जरूरी है:  कश्मीर में पीडीपी और एनसी दोनों पार्टियां आउट डेटेड हो गई हैं। उन्होंने स्थानीय निकाय चुनाव का विरोध किया लेकिन फिर भी वहां करीब 70 प्रतिशत वोटिंग हुई। 1984 के सिख दंगों में सिखों का कत्लेआम हुआ, क्या सिख समुदाय को कांग्रेस न्याय दे पाएगी? कांग्रेस ने कई बार संविधान का दुरुपयोग किया, इस अपमान का वो न्याय दिला पाएंगे?: मोदी

- पांच साल में हमारी सरकार ने सामान्य मानवीय की आवश्यकता को प्राथमिकता दी, जो बहुत पहले मिल जाना था, लेकिन नहीं हो पाया था, उसे पूरा करने के लिए हमने पूरी जान लगाई। अब अगले पांच साल में हमारा ध्यान लोगों की आकांक्षाओं पर है: मोदी

- 23 मई के बाद हमारी नई सरकार बनने के बाद हिंदुस्तान के सभी किसानों को पेंशन दी जाएगी, हमने संकल्प पत्र में किसानों को बिना ब्याज के लोन देने का फैसला किया है: पीएम

- हमने 2007 से लंबित रूस्क्क लागू किया। क्क्र सरकार इसे दबा के रखी थी, किसानों को फसल की 1.5 गुना कीमत देने का फैसला हमने किया: मोदी

- हमारी कोशिश है कि भारत के हितों को सर्वोपरि रखते हुए हमें दुनिया के साथ तालमेल रखना चाहिए। आज वैश्विक परिदृश्य में पूरी दुनिया इंटर डिपेंडेंट और इंटर कनेक्टेड दोनों है। ऐसे में भारत अकेले नहीं चल सकता। इसी दिशा में हमने काम किया है: पीएम

- आज विश्व में भारत ने अपनी जगह बनाई है। पहले हम एक दर्शक थे, अब हम एक प्लेयर हैं। आज दुनिया कह रही है कि भारत लीड कर रहा है। इजराइल और फिलीस्तीन के बीच तनाव है लेकिन हमारे साथ दोनों की दोस्ती है। अरब देशों और ईरान के साथ भी हमारे अच्छे संबंध हैं: पीएम मोदी

- दुनिया के देश अपने हिसाब से चलते हैं। जैसे हम पद्मश्री, पद्म भूषण या भारत रत्न अपने समय पर देते हैं वैसे ही दुनिया के दूसरे देश भी अपने समय के हिसाब से लोगों को पुरस्कार देते हैं। ये स्वाभाविक प्रक्रिया है और इस पर आरोप लगाना गलत है: मोदी

- जब मैं पहली बार सऊदी अरब गया तो उन्होंने सबसे बड़ा सम्मान दिया था। फिलीस्तीन और अफगानिस्तान ने भी बहुत बड़े सम्मान से नवाजा। चुनाव आयोग ने भी इन स्वाभाविक प्रक्रियाओं को चलने देने की बात हमेशा कही है: मोदी

whatsapp mail