ईडी ने आईएमए के संस्थापक मंसूर खान को दिल्ली एयरपोर्ट से गिरफ्तार किया

img

नई दिल्ली
पोन्जी स्कैम के मामले में प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) ने आईएमए के संस्थापक मंसूर खान को शुक्रवार सुबह दिल्ली एयरपोर्ट से गिरफ्तार कर लिया। ईडी के अफसर उसे दिल्ली स्थित मुख्यालय ले गए। जहां मंसूर से पूछताछ की जा रही है। ईडी के साथ-साथ एसआईटी ने भी उसके खिलाफ लुक आउट सर्कुलर जारी किया था। निवेश के नाम पर करीब 30 हजार लोगों के साथ ठगी का आरोपी मंसूर 8 जून को दुबई भाग गया था। एसआईटी प्रमुख रविकांत गौड़ा ने बताया कि बेंगलुरु से उमर शरीफ (42) को गिरफ्तार किया है। वह अल बशीर नाम का स्कूल चलाता था। बीते पांच साल से आईएमए और मंसूर खान का प्रचार कर रहा था।

मंसर ने कहा था- देश छोडऩा बड़ी गलती                                                                                                                      मंसूर खान ने पिछले दिनों दुबई से एक वीडियो जारी कर भारत छोडऩे को बड़ी गलती बताया था। उसने जल्द भारत लौटकर जांच में सहयोग करने की बात कही थी। उसने कहा था, ''मुझे देश की न्याय व्यवस्था पर पूरा भरोसा है। कुछ ऐसे हालात बन गए थे कि मुझे उस वक्त देश छोड़कर जाना पड़ा।''

कांग्रेस विधायक रोशन बेग भी पकड़े गए                                                                                                                      मंसूर ने 23 जून को दावा किया था कि पोन्जी स्कैम के असली अपराधियों में राज्य और केंद्रीय स्तर पर बड़े नाम शामिल हैं। अधिकारियों ने 400 करोड़ रुपए की रिश्वत स्वीकार की थी। कर्नाटक के कांग्रेस विधायक रोशन बेग भी इसमें शामिल थे। पिछले दिनों एसआईटी ने उन्हें बेंगलुरु एयरपोर्ट से गिरफ्तार किया। तब बेग मुंबई जाने की फिराक में थे।

क्या है मामला?
प्रवर्तन निदेशालय ने जून में आई मॉनेटरी एडवाइजरी (IMA) के खिलाफ मनी लॉन्ड्रिंग का मामला दर्ज किया था। फाउंडर मंसूर खान को 24 जून तक बेंगलुरु स्थित ईडी दफ्तर में पेश होने के लिए नोटिस जारी किया गया। आरोप है कि मंसूर ने हर महीने 14 से 18त्न तक रिटर्न दिलाने का वादा कर करीब 30 हजार लोगों से कंपनी में निवेश कराया। निवेशकों को 2000 करोड़ रुपए का चूना लगाया और 8 जून को भारत छोड़कर खाड़ी देश भाग गया था। 

whatsapp mail