गुरुग्राम शूटआउट : गनर के बदलते बयानों ने बढ़ाई टेंशन

img

नई दिल्ली

गुरुग्राम की आर्केडिया मार्केट में गनमैन महिपाल द्वारा अतिरिक्त जिला एवं सत्र न्यायाधीश की पत्नी की हत्या और बेटे को गोली मारने के मामले की जांच के लिए एसआईटी का गठन कर दिया गया है। जांच के लिए डीसीपी सुलोचना गजराज के नेतृत्व में आठ सदस्यीय विशेष जांच टीम (एसआईटी) गठित की गई है। इसमें एसआईटी में सहायक पुलिस आयुक्त हितेश कुमार, इंद्रजीत सिंह, धारणा यादव, निरीक्षक सुरेंद्र फोगाट, विवेक कुंडू साइबर सेल प्रभारी निरीक्षक नरेंद्र कुमार व अपराध शाखा के अमित कुमार शामिल हैं। पुलिस ने आरोपी गनर की मां को हिरासत में लिया है। आरोपी महिपाल ने अभी तक घटना को अंजाम देने के वास्तविक कारणों का खुलासा नहीं किया है। इस मामले में जांच के लिए गठित एसआईटी चीफ एवं पुलिस उपायुक्त सुलोचना गजराज ने बताया, आरोपी हर बार अपना बयान बदल देता है। छह बार बयान बदल चुका है। रविवार दोपहर सेक्टर-50 थाना पुलिस ने आरोपी गनमैन को ड्यूटी मजिस्ट्रेट प्रियंका जैन के समक्ष पेश कर 7 दिन की रिमांड की मांग की। अदालत ने 4 दिन की रिमांड मंजूर करते हुए 18 अक्तूबर को अदालत में पेश करने के आदेश दिए हैं।

whatsapp mail