राजस्थान के हस्तशिल्प उत्पाद बन रहे हैं आकर्षक का केंद्र

img

नई दिल्ली
नई दिल्ली के प्रगति मैदान में चल रहे 39 वें अंतरराष्ट्रीय व्यापार मेला के राजस्थान मंडप में राजस्थान के हस्तशिल्प उत्पाद जन आकर्षण का केंद्र बने हुए हैं। प्रगति मैदान के हॉल नम्बर 12 ए में लगाये गये राज्यों के मंडप में राजस्थान मंडप ने अपनी सांस्कृतिक विविधता और हस्तशिल्प वस्तुओ के कारण दर्शकों में अपनी अलग ही पहचान बना है। मंडप को व्यापार मेला की इस वर्ष की थीम 'ईज ऑफ डूइिंग बिजनेस' के अनुरुप तैयार किया गया है। मण्डप निदेशक दिनेश सेठी ने बताया कि मंडप के सभी स्टॉल आगंतुकों के आकर्षण का केन्द्र बने हुए हैं। राजस्थान की हस्तशिल्प के निर्मित वस्तुओं यथा मोजडिय़ों, जूतियां रजाईयां, कंगन-चूडिय़ों के अतिरिक्त तिल से निर्मित मूंगफली एवं तिल-पट्टियां, आचार-पापड़ के उत्पादों के स्टॉल्स पर भारी भीड़ देखी जा रही है। राजस्थान मंडप में प्रदेश की गा्रमीण गैर कृषि विकास एजेंसी (रूडा) के अंतर्गत स्टॉल नंबर 09 में राजस्थान की आर्टिफिशियल ज्वैलरी का प्रदर्शन किया जा रहा है। जिसमें महिलाएं विशेष रूचि ले रही है। स्टॉल के संचालक जयपुर निवासी योगेन्द्र जैन ने बताया कि उनके इस स्टॉल में 150 रुपये से लेकर 1000 रुपये तक की ज्वैलरी की बिक्री की जा रही है। 

whatsapp mail