शेल्टर होम यौन उत्पीड़न की घटनाएं कैंसर की तरह फैल रही -सुप्रीम कोर्ट

img

नई दिल्ली
सुप्रीम कोर्ट ने गुरुवार को कहा कि शेल्टर होम में यौन उत्पीड़न के मामले कैंसर की तरह फैल रहे हैं। कोर्ट ने देश भर में ऐसे होम्स में 1,575 नाबालिगों के साथ इस तरह की घटना होने के बाद भी कार्रवाई नहीं करने के लिए अधिकारियों को फटकार लगाई। जस्टिस मदन बी. लोकुर, जस्टिस एस. अब्दुल नजीर और जस्टिस दीपक गुप्ता की पीठ ने इस तरह की घटनाओं पर अंकुश लगाने के लिए ठोस कार्रवाई नहीं होने पर नाराजगी जताई। पीठ ने कहा, '1,575 नाबालिग यौन प्रताड़ना के शिकार हुए और आप अभी तक इंतजार कर रहे हैं। आखिर कितने समय तक आप इंतजार करेंगे? राष्ट्रीय बाल अधिकार संरक्षण आयोग के वकील ने पीठ से कहा कि ऐसे होम्स के सोशल आडिट का आंकड़ा उन्होंने केंद्र के साथ साझा किया है। इसी महीने के पहले सप्ताह में बैठक हुई थी। यह जानकारी देने के बाद पीठ ने नाराजगी जाहिर की। सुनवाई के दौरान पीठ ने कहा कि इन शेल्टर होम में से कई एनजीओ द्वारा संचालित हैं। स्थिति और खराब हो गई है। पीठ ने सवाल किया हम कहां जाएं? किस पर हम भरोसा करें? स्थिति बद से बदतर होती जा रही है। आप जितनी गहराई से इसे देखेंगे उतनी ही गंभीर समस्या है। पीठ ने आगे की सुनवाई चार अक्टूबर तय कर दी।

whatsapp mail