आरोप मनगढंत और झूठे, करेंगे कानूनी कार्रवाई : एमजे अकबर

img

नई दिल्ली
विदेश राज्यमंत्री एमजे अकबर ने सोशल मीडिया पर 'मीटू अभियान' के तहत अपने खिलाफ लगाए गए आरोपों को मनगढंत और झूठा करार दिया है। उन्होंने कहा कि आरोप लगाने वाली महिलाओं के खिलाफ कानूनी कार्रवाई करेंगे। अपने खिलाफ चलाए गए अभियान के पीछे बड़ी साजिश का संकेत देते हुए उन्होंने कहा कि आम चुनाव के चंद महीने पहले शुरू किये इस अभियान के पीछे छिपे एजेंडे को लोग समझ सकते हैं। सरकार ने पहले ही साफ कर दिया था कि दौरे से लौटने के बाद खुद अकबर आरोपों पर स्थिति साफ करेंगे। नाइजीरिया के सरकारी दौरे से रविवार सुबह लौटे एमजे अकबर ने दोपहर बाद बयान जारी कर अपने खिलाफ चलाए जा रहे अभियान का बिंदुवार जवाब दिया। उन्होंने कहा कि झूठ के पांव नहीं होते हैं, लेकिन उसमें जहर भरा होता है। इस जहर भरे झूठ को सनक में उनपर फेंका जा रहा है, जो काफी दुखद है। इन आरोपों से उनकी प्रतिष्ठा का अपूर्णीय क्षति हुई है। झूठे आरोप लगाने वाली महिलाओं के खिलाफ कानूनी कार्रवाई की धमकी देते हुए उन्होंने कहा कि इसके लिए उनके वकील उचित कदम उठाएंगे। अकबर ने सवाल उठाया कि जब हमने कुछ किया ही नहीं, तो फिर आरोप कहां है? कुछ  नहीं होने के बाद भी उसके इर्दगिर्द बेसिर-पैर की कहानियां गढ़ दी गई। कुछ ने सुनी-सुनाई बातें कहीं, तो किसी ने उसका समर्थन किया। इस बीच कुछ महिलाओं ने आरोपों को सिरे से खारिज भी कर दिया। अकबर ने शुतापा पॉल का उदाहरण दिया, जिन्होंने लिखा था कि असल में उसने कुछ किया ही नहीं था। एक महिला अंजु भारती के स्वीमिंग पुल में पार्टी के आरोपों को बचकाना बताते हुए अकबर ने कहा कि उन्हें तैरना तक नहीं आता है। अकबर ने गजाला वहाब नाम की महिला के आरोपों को भी झूठ का पुलिंदा बताया। गजाला वहाब ने 21 साल पहले एक अखबार में काम के दौरान छेडख़ानी का आरोप लगाया था। अकबर के अनुसार अखबार के जिस दफ्तर की बात वहाब कर रही हैं, वह एक हॉल में था। जिसमें मैं ऊपर से पूरी तरह खुले एक छोटे से केबिन में बैठता था। कांच और प्लाइवुड से घिरे खुले केबिन के चारों ओर मुश्किल से दो फुट की दूरी पर दूसरे लोग काम कर रहे होते थे। आरोप मनगढंत : अकबर ने वहाब के आरोपों को मनगढंत बताते हुए कहा कि ऐसे में छेड़छाड़ की घटना को कोई कैसे नहीं देख सका। उन्होंने कहा कि जिस वीनू सान्याल से सारी बातें बताने का गजाला वहाब दावा कर रही हैं, उसने भी उसे खारिज कर दिया। अकबर के अनुसार वीनू सान्याल ने वहाब के आरोपों का बकवास बताया है। आरोपों के समय पर सवाल उठाते हुए एमजे अकबर ने कहा कि आखिरकार लोकसभा चुनाव के पहले ही आरोपों की आंधी क्यों चली है। इसके पीछे कोई एजेंडा तो नहीं है? 

whatsapp mail