भारत-नेपाल सीमा पर आया भूकंप, जमीन से 33 किमी नीचे था केंद्र

img

नई दिल्ली
भारत और नेपाल की सीमा पर शुक्रवार को भूकंप के झटके महसूस किए गए। रिक्टर स्केल पर भूकंप की तीव्रता 4.5 दर्ज की गई। नेशनल सेंटर फॉर सिस्मोलॉजी एनसीएस के मुताबिक इस भूकंप के चलते फिलहाल जान-माल के नुकसान की कोई खबर नहीं आई है। 
धरती से 33 किमी नीचे था भूकंप का केंद्र
विज्ञान मंत्रालय के अंतर्गत काम कर रहे एनसीएस ने कहा कि भूकंप दोपहर 12.45 बजे महसूस किया गया। इसका केंद्र धरती से 33 किलोमीटर नीचे था। बता दें कि नेपाल में अप्रैल 2015 में भूकंप के जबर्दस्त झटके महसूस किए गए थे जिसकी तीव्रता 7.8 दर्ज की गई थी। उस भूकंप से नेपाल को व्यापक नुकसान हुआ था।

करीब नौ हजार लोगों की गई थी जान
उस दौरान लगभग नौ हजार लोगों को अपनी जान गंवानी पड़ी थी और करीब 22 हजार लोग घायल हो गए थे। बड़े झटके बाद लगातार कई दिनों तक छोटे-छोटे झटके आते रहे जिससे लोगों में दहशत का माहौल बना रहा और नुकसान भी काफी हद तक बढ़ गया। दशकों पीछे चला गया नेपाल उल्लेखनीय है कि नेपाल में उस भूकंप से अर्थव्यवस्था और अधोसंरचना दोनों को काफी नुकसान पहुंचा था। इसके साथ ही कई ऐतिहासिक इमारतें भी जमींदोज हो गई थी। इस झटके से नेपाल विकास के मामले में कई साल पीछे चला गया। गौरतलब है कि यह इलाका भूकंप के सबसे खतरनाक जोन में शामिल है। इसके चलते यहां अक्सर छोटे-मोटे झटके आते रहते हैं।

whatsapp mail