इंडिया लर्न गोल्फ वीक के दूसरे संस्करण की शुरूआत हुई

img

नई दिल्ली
इंडिया लर्न गोल्फ वीक के दूसरे संस्करण की शुरूआत हो चुकी है। यह 30 सितंबर तक 26 शहरों में आयोजित होगा। देशभर के 51 गोल्फ क्लब इंडिया लर्न गोल्फ वीक में हिस्सा लेगें। 2022 तक गोल्फ में 1,00,000 नए गोल्फर्स को शुरू करवाने के उद्देश्य से गोल्फ इंडस्ट्री एसोसिएशन ने अपनी तरह की एक पहल की शुरुआत की। आईएलजीडब्ल्यू को स्टार प्रोफेशनल खिलाडिय़ों समेत पूरे गोल्फिंग बिरादरी से समर्थन मिला है। भारत के स्टार गोल्फर गगनजीत भुल्लर, राहील गंजी, इंडियन गोल्फ युनियन, युमेन्स गोल्फ एसोसिएशन ऑफ इंडिया, नेशनल गोल्फ एसोसिएशन ऑफ इंडिया, गोल्फ कोर्स सुपरिनटेनडेन्ट एंड मेनेजर्स एसोसिएशन ऑफ इंडिया और अमेरिका के प्रोफेशनल गोल्फ एसोसिएशन (पीजीए) आदि का समर्थन प्राप्त हुआ है। 2017 में आईएलजीडब्ल्यू के पहले संस्करण में 15 शहरों के 27 क्लबों ने 7000 नए गोल्फर्स को गोल्फ खेल शुरू किया था। इस साल बढ़ती हुई गोल्फ के प्रति आकर्षण के चलते, 15000 से अधिक नए गोल्फर खेल में अपना पहला सबक पाने के लिए तैयार हैं। आईएलजीडब्ल्यू को अगले चार सालों में 1,00,000 के आंकड़े हासिल करने का उद्देश्य है। 51 क्लबों में पहले से ही सैकड़ों पंजीकरण शुरू हो गए हैं। आयोजन के आधार पर, आईएलजीडब्लू भारत के गोल्फ चौम्पियन जरूर खोज पायेगा। इसकी बढ़ती प्रभुता के चलते नये और युवा हुनर का उभर कर आना तय है। हाल ही में हुए एशियन गेम्स में सबसे कम उम्मीद रखे जाने वाले छोटे शहरों और गांव ने पदक विजेता उत्पन्न किये। आईएलजीडब्लू ऐसे युवा हुनर को खोजने के लिए एक उपयुक्त जरिया साबित होगा, जो की अन्यथा इस खेल को सीख नहीं पाते। आईएलजीडब्लू एक बार में इतने सारे प्रतिभा को सम्मिलित करने की सबसे बड़ी पहल है। साथ ही, आईएलजीडब्लू का इस दौरान 1500 करोड़ रुपये से ज्यादा का आय उत्पन्न करने का लक्ष्य है। अंर्तराष्ट्रीय सफलता और ओलम्पिक खेलों में समावेशन के चलते, हाल ही के समय में गोल्फ ने देश में काफी तरक्की हासील की है, जिसके चलते इस खेल की रुपरेखा पहले से काफी बेहतर हुई है। इस समय भिन्न-भिन्न स्तर पर लगभग 300 प्रोफेशनल गोल्फर्स भारत के अन्तर्गत खेल रहे है

whatsapp mail