केंद्रीय मंत्रिमंडल ने अंतरिक्ष के क्षेत्र में भारत और दक्षिण अफ्रीका के बीच एमओयू को मंजूरी दी

img

नयी दिल्ली
केंद्रीय मंत्रिमंडल ने शांति पूर्ण उद्देश्यों के लिए बाह्य अंतरिक्ष की खोज और उपयोग के क्षेत्र में सहयोग पर भारत और दक्षिण अफ्रीका के बीच एक समझौता ज्ञापन को बुधवार को मंजूरी प्रदान कर दी । प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी की अध्यक्षता में हुई केन्द्रीय मंत्रिमंडल की बैठक में समझौता ज्ञापन की जानकारी दी गयी। इस समझौता ज्ञापन पर 26 जुलाई 2018 को जोहान्सबर्ग में हस्ताक्षर किए गए थे।इस समझौता ज्ञापन के अंतर्गत दोनों देशों के बीच पृथ्वी दूर संवेदी, उपग्रह संचार तथा उपग्रह आधारित नौवहन, अंतरिक्ष विज्ञान तथा ग्रहों की खोज, अंतरिक्ष यान, लांच यान, अंतरिक्ष प्रणालियों और जमीनी प्रणालियों के उपयोग के क्षेत्र में सहयोग की बात कही गई है। इससे भू-स्थानिक उपायों और तकनीकों सहित अंतरिक्ष प्रौद्योगिकी के व्यवहारिक उपयोग के क्षेत्र सहयोग में मदद मिलेगी ।इसके तहत परस्पर लाभ और हित की संयुक्त अंतरिक्ष परीयोजनाओं का नियोजन और क्रियान्वयन के साथ सहयोगात्मक अंतरिक्ष गतिविधियों के लिए भू आधारित स्टेशनों की स्थापना, संचालन तथा रख-रखाव तथा उपग्रह डाटा प्रयोगों के परिणाम तथा वैज्ञानिक और प्रौद्योगिकी सूचना साझा करना एवं संयुक्त अनुसंधान और विकास गतिविधियों को बढ़ावा दिया जा सकेगा । इसमें सहयोग के कार्यक्रमों में भाग लेने के लिए निर्धारित तकनीकी और वैज्ञानिक कर्मियों का आदान-प्रदान, अंतरिक्ष विज्ञान और प्रौद्योगिकी में क्षमता सृजन तथा संयुक्त गोष्ठियों, सम्मेलनों और वैज्ञानिक बैठकों का आयोजन शामिल है ।

whatsapp mail