राहुल ने कहा- राफेल घोटाले का वैश्विक भ्रष्टाचार और बम बरसाएगा, भाजपा ने उन्हें चाइनीज गांधी बताया

img

नई दिल्ली
कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने शुक्रवार को राफेल डील मामले में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर एक बार फिर हमला बोला। उन्होंने जनवरी 2016 में दिल्ली में राफेल डील तय होने और उधर फ्रेंच एक्टर जूली गाए की कंपनी रोग एंटरटेनमेंट और अनिल अंबानी की रिलायंस एंटरटेनमेंट के एग्रीमेंट की समान टाइमिंग पर सवाल उठाए। उन्होंने ट्वीट में कहा??- राफेल में वैश्विक भ्रष्टाचार है। आने वाले हफ्तों में यह और बम बरसाएगा। जूली गाए फ्रांस के राष्ट्रपति फ्रांसुआ ओलांद के करीबी और बिजनेस पार्टनर हैं। क्या है रिलायंस एंटरटेनमेंट की डील दरअसल, अंग्रेजी अखबार इंडियन एक्सप्रेस ने शुक्रवार को एक रिपोर्ट में बताया कि 24 जनवरी, 2016 में रिलायंस एंटरटेनमेंट ने रोग इंटरनेशनल के साथ एक फ्रेंच फिल्म बनाने को लेकर करार किया था। यह समझौता उस वक्त हुआ जब ओलांद भारत में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के साथ 36 राफेल एयरक्रॉफ्ट के लिए एक एमओयू साइन कर रहे थे। दरअसल, भारत से डील के तहत राफेल एयरक्रॉफ्ट निर्माता फ्रेंच ग्रुप डसॉल्ट ने अनिल अंबानी की कंपनी रिलायंस डिफेंस को स्थानीय साझेदार बनाया है।
भाजपा ने कहा- राहुल चीन के प्रवक्ता की तरह बयान देते हैं भाजपा के प्रवक्ता संबित पात्रा ने शुक्रवार को कहा- "राहुल संसदीय समिति के सदस्य हैं, लेकिन जर्मनी में जाकर कहते हैं कि डोकलाम के बारे में मुझे ज्यादा नहीं पता। इसका मतलब राहुल गांधी संसदीय समिति की बैठक में नहीं जाते। 31 दिसंबर 2017 को राहुल ने चीन के प्रेम में इजहार किया था, ट्वीट के जरिए चीन की तारीफ का एक घंटे का वीडियो भी शेयर करते हैं। हाल ही में उन्होंने कहा कि चीन 24 घंटे में 50 हजार लोगों को रोजगार देती है और भारत में केवल 450 लोगों को जॉब मिलती है। चीन से संबंधों पर उठाया सवाल पात्रा ने कहा, ''आप राहुल गांधी हैं, चाइनीज गांधी नहीं। आधिकारिक पद नहीं होने के बावजूद 2008 के ओलम्पिक में चीन ने सोनिया के लिए स्वागत कार्यक्रम आयोजित किया था। चीन के मामले में आपने सोनिया और अपने पूरे परिवार की तरह कांग्रेस के नेतृत्व को बरकरार रखा है। राहुल ने जेटली को दी थी 24 घंटे की डेडलाइन राहुल गांधी ने बुधवार को ट्वीट में कहा था- "मसला सुलझाने के लिए जेपीसी के बारे में आपकी क्या राय है? आपके सर्वोच्च नेता अपने दोस्त को बचा रहे हैं। इसलिए हो सकता है कि जेपीसी बनाना सुविधाजनक ना हो। इस पर गौर करें और 24 घंटे में जवाब दें। उन्होंने यह ट्वीट अरुण जेटली के उस बयान पर किया था, जिसने उन्होंने कहा कि राहुल अपने सात भाषणों में राफेल की अलग-अलग कीमतें बताईं। उनके दिए तथ्य गलत हैं। इस पर बात करना प्राइमरी स्कूल की बहस जैसा है।

whatsapp mail