एस आर एम इंस्टीट्यूट ऑफ साइंस एण्ड टेक्नोलॉजी को मिला सर्वोच्च ग्रेड ए डबल प्लस

img

नई दिल्ली
एसआरएम इंस्टीट्यूट ऑफ साइंस एण्ड टेक्नोलॉजी (इससे पूर्व एसआरएम युनिवर्सिटी) को हाल में नेशनल असेसमेंट एण्ड एक्रेडिशन काउंसिल ने सर्वोच्च ग्रेड ए डबल प्लस प्रदान किया। शिक्षा संस्थानों को दिए जाने वाले सर्वोच्च ग्रेड पाना एसआरएम के लिए एक अन्य बड़ी उपलब्धि है। मान्यता देने की नई प्रक्रिया में लगभग 70 प्रतिशत वेटेज क्वांटिटेटिव मैट्रिक्स को दी जाती है। संस्थानों से इसके प्रमाण अपलोड करने कहा जाता है जिसका कम्प्युटर आधारित टूल्स से सत्यापन किया जाता है। एस आर एम आई एसटी में 50,000 से अधिक विद्यार्थी और 3200 से अधिक फैकल्टी मेम्बर हैं। संस्थान इंजीनियरिंग, मेडिसीन, विज्ञान, मानवीकी, प्रबंधन, विधि (लॉ), स्वास्थ्य विज्ञान, दंत चिकित्सा, होटल मैनेजमेंट, कृषि विज्ञान और शिक्षक प्रशिक्षण के प्रोग्राम हैं और यह भारत के सबसे बड़े विविध विषयों के विश्व विद्यालयों में एक बड़ा नाम है जिनका नई पद्धति से आकलन किया गया और सर्वोच्च मान्यता प्रदान की गई। एस आरएम आईएसटी ने 4.0 के स्केल पर 3.55 अंक हासिल किए जो विश्व विद्यालय अनुदान आयोग विनियम, 2018 के अनुसार स्वत: इसे बतौर कैटेगरी। युनिवर्सीटी ग्रेडेड ऑटोनोमी प्रदान करता है। युनिवर्सिटी की मान्यता प्राप्त एस आर एम आई एसटी स्वत: विश्व विद्यालय अनुदान आयोग, 1956 की धारा 12 बी के तहत मान्यता प्राप्त संस्थान माना जाएगा और यह कैम्पस से बाहर कोर्स आरंभ कर सकता है और अंतर्राष्ट्रीयकरण कर सकता है। गौरतलब है कि अक्टूबर 2017 में इंगलैंड आधारित विश्व प्रसिद्ध रैंकिंग एजेंसी क्यूएस ने भी एस आर एम आई एसटी को '4 स्टार' संस्थान का दर्जा देते हुए शिक्षण, रोजगार योग्यता और समावेश योग्यता में इसे '5 स्टार' रेटिंग दी।   

whatsapp mail