कश्मीर में 9 साल में पहली बार नवम्बर में बर्फबारी, पारा माइनस 6 डिग्री सेल्सियस

img

श्रीनगर
जम्मू-कश्मीर, हिमाचल प्रदेश और उत्तराखंड में भारी बारिश और बर्फबारी हुई। केदारनाथ में माइनस 6 डिग्री और घाटी के ऊंचे इलाकों में माइनस 5.1 डिग्री सेल्सियस रिकॉर्ड किया गया। कश्मीर घाटी का देश के बाकी हिस्से से जमीन और हवाई संपर्क कट गया है। 2009 के बाद यह पहली बार है जब कश्मीर में नवंबर में बर्फबारी हुई है। मौसम विभाग के अफसर के मुताबिक, पिछले दो दशको में यह केवल चौथा मौका है जब श्रीनगर में नवंबर में बर्फबारी हुई है। कश्मीर में 2004, 2008 और 2009 में नवंबर में स्नोफॉल हुआ। घाटी के कई जिलों में भी बर्फबारी हुई। बांदीपोरा के गुरेज में हिमस्खलन हुआ। एक ट्रैफिक अफसर के मुताबिक, बर्फबारी के चलते श्रीनगर-जम्मू राष्ट्रीय राजमार्ग बंद हो गया है। इसके चलते रास्ते में वाहनों की लंबी कतार बन गई है। कई इलाकों में बिजली की सप्लाई भी बाधित रही। श्रीनगर इंटरनेशनल एयरपोर्ट से भी फ्लाइट की आवाजाही बंद रही। बर्फबारी के चलते घाटी में तापमान 10 डिग्री सेल्सियस गिर गया। मौसम विभाग ने अगले 24 घंटे में तापमान में और कमी आने की बात कही है। कश्मीर की पीर की गली स्थित मुगल रोड से बर्फ में फंसे हुए 120 लोगों को बाहर निकाला गया। यहां 3 फीट तक बर्फबारी हुई थी। दक्षिणी कश्मीर के शोपियां से राजौरी और पुंछ का संपर्क कट गया है। हिमाचल प्रदेश के किन्नौर जिले के कल्पा में 16 सेमी बर्फबारी हुई। शिमला में भारी बारिश हुई। शिमला मौसम विभाग के निदेशक मनमोहन सिंह के मुताबिक, बीते 24 घंटों में न्यूनतम तापमान में 2-3 डिग्री तो अधिकतम तापमान में 6-7 डिग्री सेल्सियस की कमी आई। राज्य में सबसे कम तापमान लाहौल-स्पीति के केलांग में माइनस 1.3 डिग्री और सबसे ज्यादा तापमान ऊना में 25 डिग्री दर्ज किया गया। रेकॉन्ग पियो में 20 मिमी, रामपुर में 17 मिमी, अन्नू, चोपाल और मोरांग में 10 मिमी बारिश हुई। फागु और कुकुमसारी में 14 मिमी, कुफरी में 11 मिमी, शिमला में 10 मिमी, छैला और रोहड़ू में 9 मिमी बारिश दर्ज की गई। उत्तराखंड के ऊंचे इलाको में बर्फबारी उत्तराखंड के बद्रीनाथ में एक इंच, केदारनाथ में 2.5 इंच, गंगोत्री-यमनोत्री में 2 इंच बारिश दर्ज की गई। मैदानी इलाकों में भी छिटपुट बारिश हुई। केदारनाथ में माइनस 6 डिग्री सेल्सियस तापमान रिकॉर्ड किया गया।

whatsapp mail