सुरक्षाबलों ने मुठभेड़ में जैश के 2 आतंकी मारे

img

14 फरवरी को हुए पुलवामा हमले में शामिल थे

श्रीनगर
अनंतनाग में सुरक्षाबलों ने मुठभेड़ में मंगलवार को जैश-ए-मोहम्मद के दो आतंकियों को मार गिराया। आतंकी सज्जाद अहमद भट और तौसीफ दोनों 14 फरवरी को हुए पुलवामा आतंकी हमले में शामिल थे। हमले में एक जवान अनिल जसवाल भी शहीद हो गया। सुरक्षाकर्मियों ने मौके से हथियार बरामद किए हैं। पिछले 24 घंटे के दौरान घाटी में मेजर केतन शर्मा समेत चार जवान शहीद हो गए, जबकि तीन आतंकी मारे गए। जम्मू-कश्मीर के डीपीजी दिलबाग सिंह ने बताया कि पुलवामा आतंकी हमले में जिस कार का इस्तेमाल किया गया, वह सज्जाद अहमद भट का था। दोनों अनंतनाग के मरहमा के रहने वाले थे। पुलवामा आतंकी हमले में 40 जवान शहीद हुए थे। अनंतनाग में मंगलवार को पुलिस ने एक कॉलेज स्टूडेंट नासिर अहमद मीर का शव भी बरामद किया। देर शाम आतंकियों ने पुलवामा में ही एक पुलिस स्टेशन पर हैंड ग्रेनेड से हमला किया जो कि बीच में ही फट गया। यह व्यस्त इलाका है। 7 नागरिक इस हमले में घायल हुए जबकि 3 की हालत गंभीर है। पुलिस ने इलाके की घेराबंदी कर दी है। इससे पहले सोमवार को पुलवामा के अरिहल गांव में 44 राष्ट्रीय राइफल्स की बख्तरबंद गाड़ी पर किए गए आईईडी ब्लास्ट में नौ जवान घायल हुए थे। इलाज के दौरान मंगलवार को दो जवान हवलदार अमरजीत सिंह और नायक अजीत कुमार साहू ने दम तोड़ दिया। सोमवार को अनंतनाग में मुठभेड़ हुई थी। इसमें मेजर केतन शर्मा शहीद हो गए जबकि तीन जवान जख्मी हुए थे। सुरक्षाबलों ने एक आतंकी को मार गिराया था। कानून-व्यवस्था बनाए रखने और अफवाहों को फैलने से रोकने के लिए इलाके में इंटरनेट और मोबाइल सेवाओं पर रोक लगा दी गई थी।

31 मई तक 101 आतंकी मारे गए
अधिकारियों के मुताबिक, इस साल 31 मई तक 101 आतंकी मारे गए। इनमें 23 विदेशी और 78 स्थानीय आतंकी शामिल थे। इनमें अल-कायदा के संगठन अंसार गजवत-उल-हिंद का कथित प्रमुख जाकिर मूसा भी था। वहीं, मार्च से अब तक 50 युवा आतंकी संगठनों में शामिल हो चुके हैं। 

whatsapp mail