चुनाव आयोग ने योगी आदित्यनाथ और मायावती पर की बड़ी कार्रवाई, प्रचार पर लगाई रोक

img

  • किसी भी सार्वजनिक बैठक में शामिल नहीं हो सकते हैं।
  • वोट मांगने के लिए सार्वजनिक जुलूस और रोड शो नहीं कर सकते हैं।
  • सार्वजनिक रैलियों में शामिल नहीं हो सकते।
  • फेसबुक, ट्विटर और यू ट्यूब यानि सोशल मीडिया पर कोई राजनीतित पोस्ट नहीं कर सकते हैं।
  • इलेक्ट्रॉनिक और प्रिंट मीडिया के साथ रेडियो पर इंटरव्यू नहीं दे सकते हैं।
  • योगी आदित्यनाथ और मायावती पर ये आदेश 16 अप्रैल की सुबह छह बजे से लागू हो जाएगा। योगी पर ये पाबंदी 72 घंटे और मायावती पर 48 घंटे के लिए प्रभावी रहेगी।

लखनऊ
लोकसभा चुनाव 2019 में आदर्श आचार संहिता का उल्लंघन करने पर उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ और बहुजन समाज पार्टी प्रमुख मायावती पर हुई कार्रवाई सुर्खियों में है। चुनाव आयोग ने दोनों नेताओं पर क्रमश: 72 और 48 घंटों तक चुनाव के लिए पार्टी का प्रचार करने पर रोक लगी है। इस पाबंदी के तहत ये दोनों नेता आखिर कौन कौन से काम नहीं कर सकेंगे। जिसकी वजह से चुनावी मौसम में संविधान के अनुच्छेद 324 के तहत ये पाबंदी किसी सख्त सजा से कम नहीं है। चुनाव आयोग द्वारा की गई कार्रवाई मंगलवार सुबह 6 बजे से लागू होगी। हालांकि, योगी आदित्यनाथ और मायावती आज प्रचार-प्रसार कर सकेगी। इसी के साथ आयोग ने मायावती पर धर्म के आधार पर वोट मागने वाले बयान को लेकर कार्रवाई करते हुए 48 घंटे तक चुनाव प्रचार करने से रोका है।

whatsapp mail