मैं चुनाव नहीं लड़ूंगी, संगठन को मजबूत करूंगी: प्रियंका

img

लखनऊ
कांग्रेस की राष्ट्रीय महासचिव और पूर्वी उत्तर प्रदेश की प्रभारी प्रियंका गांधी ने चुनावी मैदान में पूरी ताकत झोंक दी है। उत्तर प्रदेश के पार्टी कार्यालय नेहरू भवन में उन्होंने कार्यकर्ताओं के साथ 16 घंटे की मैराथन बैठक की। ये बैठक पूरी रात चली और बुधवार सुबह 5.30 बजे खत्म हुई। बैठक के बाद मीडिया से बातचीत में प्रियंका गांधी ने कहा कि वे चुनाव नहीं लड़ेंगी बल्कि यूपी में कांग्रेस संगठनक मजबूत करेंगी। प्रियंका गांधी ने कहा कि उनका प्रधानमंत्री मोदी से मुकाबला नहीं होगा बल्कि राहुल गांधी पीएम को टक्कर देंगे। प्रियंका गांधी ने मंगलवार की रात अलग-अलग लोकसभा क्षेत्रों से आए पार्टी कार्यकर्ताओं से मुलाकात की। बैठक के बाद जब प्रियंका से पूछा गया कि क्या उनका मुकाबला पीएम मोदी से होगा? इसके जवाब में उन्होंने कहा, मैं चुनाव नहीं लड़ूंगी, मेरे से नहीं, राहुल जी से उनका मुकाबला होगा। राहुल लड़ तो रहे हैं। उधर लोकसभा क्षेत्रवार पदाधिकारियों और टिकट के दावेदारों से बातचीत के दौरान फूलपुर के पदाधिकारी और कार्यकर्ताओं ने प्रियंका गांधी को देश के पहले प्रधानमंत्री जवाहर लाल नेहरू की कर्मभूमि रही फूलपुर लोकसभा सीट से चुनाव लडऩे का आग्रह किया। लेकिन प्रियंका ने साफ कह दिया कि वह चुनाव नहीं लड़ेंगी। उनका पूरा ध्यान संगठन की मजबूती पर रहेगा। अपने पति रॉबर्ट वाड्रा से ईडी की पूछताछ पर भी प्रियंका ने चुप्पी तोड़ी। उन्होंने कहा, ये चीज़े चलती रहेंगी, मैं अपना काम करती रहूंगी, मुझे बिल्कुल फर्क नहीं पड़ता।" बता दें कि इन दिनों वाड्रा से ईडी की टीम लगातार पूछताछ कर रही है। पहले ईडी के सामने वो दिल्ली में पेश हुए थे और फिर अब जयपुर में उनसे पूछताछ चल रही है।
इससे पहले मंगलवार को पहले उन्होंने कार्यकर्ता संबोधन में अंदरूनी कलह को खत्म करने और एकजुट रहने का आग्रह किया। प्रियंका ने लखनऊ और उन्नाव के बीच मोहनलालगंज निर्वाचन क्षेत्र में स्थानीय नेताओं से कहा, गुटबाजी खत्म करो। मंगलवार को ही कांग्रेस के राष्ट्रीय अध्यक्ष राहुल गांधी ने उत्तर प्रदेश के प्रभारियों के काम का बंटवारा कर दिया। कांग्रेस की राष्ट्रीय महासचिव और पूर्वी उत्तर प्रदेश की प्रभारी प्रियंका गांधी को यूपी की 41 लोकसभा सीटों की जिम्मेदारी दी गई है। दूसरी तरफ पश्चिमी यूपी के प्रभारी महासचिव ज्योतिरादित्य सिंधिया को 39 सीटों का उत्तरदायित्व दिया गया है।

whatsapp mail