मोदी दोबारा जीते तो देश में नहीं होंगे चुनाव : ममता

img

कोलकाता
पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री और तृणमूल कांग्रेस अध्यक्ष ममता बनर्जी ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर हमलों का सिलसिला जारी रखा है। बनर्जी ने गुरुवार को कहा कि अगर वे दोबारा सत्ता में लौटे तो संविधान बदल देंगे और देश में लोकतंत्र की बजाय अधिनायकवादी शासन बहाल कर देंगे। उन्होंने कहा कि लूट, दंगे और लोगों की हत्या ही मोदी के तीन नारे हैं। मोदी के मैं भी चौकीदार अभियान की खिंचाई करते हुए तृणमूल प्रमुख ने कहा कि वादे पूरे करने में नाकाम रहने के बाद चाय वाला अब लोगों को मूर्ख बनाने के लिए चौकीदार बन गया है। यह चौकीदार अगर अबकी सत्ता में लौटा तो देश को लोकतंत्र की बजाय अधिनायकवादी शासन में बदल देगा। ममता ने दावा किया कि राज्य सरकार ने ही वर्ष 2015 में बांग्लादेश के साथ भूखंडों की छह दशक पुरानी समस्या का समाधान किया था। उन्होंने कहा कि अब भाजपा नागरिकता (संशोधन) विधेयक के जरिए देश के वैध नागरिकों को शरणार्थी बनाने का प्रयास कर रही है। ममता ने कहा कि तृणमूल कांग्रेस बंगाल में कभी राष्ट्रीय नागरिकता रजिस्टर (एनआरसी) बनाने की अनुमति नहीं देगी। मोदी को यह तय करने का कोई अधिकार नहीं है कि कौन देश में रहेगा और कौन बाहर जाएगा। इसी तरह नागरिकता विधेयक के जरिए भी नागरिकों को शरणार्थी बनाने की साजिश चल रही है। उन्होंने लोगों को भाजपा की इस कथित साजिश से सावधान रहने को कहा।
ध्यान रहे कि प्रधानमंत्री मोदी ने बुधवार को सिलीगुड़ी की अपनी रैली में नागरिकता विधेयक का जिक्र करते हुए कहा था कि कुछ लोग इस पर कुप्रचार कर रहे हैं। भाजपा ने खासकर बांग्लादेश सीमा से सटी नौ सीटों पर एनआरसी को अपने चुनाव प्रचार का मुख्य मुद्दा बनाया है। ममता ने बृहस्पतिवार को कहा कि एनआरसी तो दूर की बात है, भाजपा को पहले बंगाल में एक सीट जीतने पर ध्यान देना चाहिए। मोदी पर बनी फिल्म का जिक्र करते हुए मुख्यमंत्री ने सवाल किया कि लोग आपकी फिल्म क्यों देखेंगे? अगर लोगों को फिल्में ही देखनी है तो गांधी जी और अंबेडकर पर बनी फिल्म देखेंगे, मोदी पर बनी फिल्म क्यों? देश के लिए उन्होंने (मोदी ने) किया ही क्या है? 

whatsapp mail