परिवारवाद की जद में मायावती भी, भाई आनंद को उपाध्यक्ष तो भतीजे आकाश को बनाया नेशनल कोऑर्डिनेटर

img

लखनऊ
परिवारवाद का लंबे समय तक विरोध करने वाली बहुजन समाज पार्टी की मुखिया मायावती ने आज पार्टी की बैठक में बड़ा फैसला कर दिया। मायावती ने आज बसपा की अखिल भारतीय बैठक में भाई आनंद कुमार को पार्टी का राष्ट्रीय उपाध्यक्ष तथा भतीजे आकाश आनंद को नेशनल को-आर्डीनेटर नियुक्त किया है। बसपा मुखिया मायावती अक्सर को खुद को परिवारवाद से दूर बताती रही हैं।
राजनीति में लंबे समय से परिवारवाद का विरोध करने वाली मायावती ने आज परिपाटी को बदल दिया। बसपा सुप्रीमो मायावती ने भाई और भतीजे को अहम जिम्मेदारी दी हैं। उन्होंने भाई आनंद कुमार को पार्टी का राष्ट्रीय उपाध्यक्ष तथा भतीजे आकाश आनंद को नेशनल कोऑर्डिनेटर नियुक्त किया है। इस बड़ी बैठक में बसपा में बड़े संगठनात्मक बदलाव की घोषण की। पार्टी में दो नेशनल कॉर्डिनेटर बनाए। मायावती ने अपने भतीजे आकाश आनंद के साथ पार्टी के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष रामजी गौतम को भी नेशनल कॉर्डिनेटर की जिम्मेदारी दी। मायावती ने अपने भाई आनंद कुमार और भतीजे आकाश आनंद को पार्टी में अहम पद देने के बाद साफ कर दिया है कि पार्टी में उनके अपनों की दखल बढऩे वाली है। बसपा चीफ के ऐलान के बाद आकाश आनंद अब पार्टी को राष्ट्रीय स्तर पर मजबूत बनाने के लिए काम करेंगे। पुरानी पद्धति पर काम कर रही बसपा में आकाश के आने के बाद से कई बदलाव आए। लोकसभा चुनाव 2019 के बाद आज लखनऊ में पहली बार अखिल भारतीय स्तर की बैठक में मायावती ने पार्टी से सभी जिम्मेदार नेताओं, पदाधिकारियों और जोन इंचार्जों के साथ बैठक कर रही हैं। मायावती ने इन सभी को विभिन्न राज्यों में अगले साल तक होने वाले विधानसभा चुनावों व जनाधार बढ़ाने के बारे में जरूरी दिशानिर्देश दिया है। उत्तर प्रदेश में 12 विधानसभा सीट पर उपचुनाव होने हैं। इनमें बसपा बिना किसी गठबंधन के मैदान में उतर रही है। बसपा पहली बार विधानसभा उप चुनाव में उतरेगी।

whatsapp mail