खिली धूप तो दिल्ली ने ली खुलकर सांस, प्रदूषण घटा

img

नई दिल्ली
खिली धूप और तेज हवाओं से दिल्ली-एनसीआर का प्रदूषण छंटने लगा है। पांच दिन बाद लोगों ने खुलकर सांस ली। पूरे इलाके में हवा की गुणवत्ता गंभीर से बेहद खराब स्तर पर पहुंच गई। पूर्वानुमान है कि अगले दो दिन में इसमें तेजी से सुधार आएगा। सोमवार को हवा खराब से औसत दर्जे के बीच रहने का अनुमान है। मौसम विभाग का कहना है कि रविवार तड़के से पश्चिमी विक्षोभ के असर से हवाओं ने अपनी चाल बदली। सुबह होते-होते इसकी रफ्तार 20 किमी प्रति घंटा से ऊपर हो गई। वहीं, आसमान साफ होने से सुबह धूप भी खिल गई थी। दोनों के मिश्रित असर से दिल्ली-एनसीआर का प्रदूषण छंटने लगा। दोपहर बाद करीब एक बजे पूरे एनसीआर को प्रदूषण स्तर 400 से नीचे आ गया। वहीं, दिल्ली समेत एनसीआर के शहरों में बीते 24 घंटे का औसत 350 के करीब रहा। शुक्रवार की तुलना में सभी शहरों की गुणवत्ता में 75-100 अंकों की गिरावट आई है। केंद्रीय प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड (सीपीसीबी) की तरफ से जारी आंकड़ों के मुताबिक, दिल्ली का वायु गुणवत्ता सूचकांक 357 रिकार्ड किया गया। जबकि गाजियाबाद 347 पर पहुंच गया। रविवार को एनसीआर के सबसे प्रदूषित शहर गुरुग्राम का गुणवत्ता सूचकांक 360 रहा।

हवा की गुणवत्ता में तेजी से सुधार के आसार
सफर का पूर्वानुमान है कि अगले दो दिन तक हवाएं तेज चलेंगी। साथ ही पंजाब व हरियाणा में पराली भी कम जलाई जा रही है। हालांकि, सफर का मानना है कि हरियाणा व पंजाब में पराली जलने पर भी अगले चार दिनों तक उसके धुएं का असर दिल्ली-एनसीआर पर नहीं पड़ेगा। इसकी एक वजह हवा की दिशा उत्तरी होना है। फिर, ट्रांसपोर्ट लेवल पर 42 किमी प्रति घंटे से ऊपर चल रही हवाओं से यह पूरे एनसीआर क्षेत्र को पार कर लेगा। आगे आगरा-मथुरा तक पहुंचते-पहुंचते धुएं का असर ही खत्म हो जाएगा। दोनों के मिले-जुले असर से रविवार को दिल्ली के प्रदूषण में पराली के धुएं दो फीसदी भी नहीं रहेगा। साथ ही हवा की गुणवत्ता में तेजी से सुधार आएगा। रविवार से सोमवार के बीच यह बेहद खराब से खराब स्तर में पहुंच जाएगी। 20 नवंबर बुधवार से एक बार फिर हवा की गुणवत्ता खराब हो सकती है।

दिल्ली-एनसीआर का बीते पांच दिन का वायु गुणवत्ता सूचकांक

16 नंवबर
गुरुग्राम: 360
फरीदाबाद: 358
दिल्ली: 357
गाजियाबाद: 347
नोएडा: 338
ग्रेटर नोएडा: 309

15 नवंबर
गाजियाबाद: 486            
नोएडा: 486                
ग्रेटर नोएडा: 467            
दिल्ली: 463                
फरीदाबाद: 437            
गुरुग्राम: 412        

14 नवंबर
गाजियाबाद: 467
नोएडा: 470
ग्रेटर नोएडा: 462
दिल्ली: 456
फरीदाबाद: 446
गुरुग्राम: 415

13 नवंबर
गाजियाबाद: 453
नोएडा: 440
ग्रेटर नोएडा: 436
दिल्ली: 425
फरीदाबाद: 406
गुरुग्राम: 402

12 नवंबर
गाजियाबाद: 453
नोएडा: 440
ग्रेटर नोएडा: 436
दिल्ली: 425
फरीदाबाद: 406
गुरुग्राम: 402

whatsapp mail