योगी मंत्रिमंडल का पहला विस्तार, 23 मंत्रियों ने शपथ ली

img

लखनऊ
मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने अपने मंत्रिमंडल का पहला विस्तार किया। बुधवार को राजभवन में 23 मंत्रियों को शपथ दिलाई गई। इनमें 18 नए चेहरे हैं। मंत्रिमंडल में छह कैबिनेट, छह स्वतंत्र प्रभार और 11 राज्यमंत्री शामिल किए गए हैं। अब मंत्रिमंडल में कुल सदस्यों की संख्या मुख्यमंत्री समेत 56 हो गई। पहले कैबिनेट का विस्तार मंगलवार को प्रस्तावित था, लेकिन इसे एक दिन के लिए टाल दिया गया। मंगलवार को पूरे दिन नामों को लेकर मंथन चला। माना जा रहा है कि भाजपा ने 2022 के विधानसभा चुनाव में जातिगत समीकरण साधने के लिए कैबिनेट में फेरबदल किया है। महेंद्र सिंह, सुरेश राणा, अनिल राजभर और भूपेंद्र सिंह चौधरी को प्रमोशन मिला। ये पहले स्वतंत्र प्रभार राज्यमंत्री थे। कमला रानी और रामनरेश को पहली बार मंत्रिमंडल में जगह दी गई। कमलारानी घाटमपुर (कानपुर) और रामनरेश अग्निहोत्री मैनपुरी से विधायक हैं। नीलकंठ तिवारी राज्यमंत्री थे, अब इन्हें स्वतंत्र प्रभार मंत्री बनाया गया है। जबकि नए चेहरों में कपिल देव, सतीष द्विवेदी, अशोक कटारिया, राम चौहान और रवींद्र जायसवाल को शामिल किया गया है। मंगलवार को वित्त मंत्री राजेश अग्रवाल, बेसिक शिक्षा मंत्री अनुपमा जायसवाल, सिंचाई मंत्री धर्मपाल सिंह, खनन राज्य मंत्री अर्चना पांडेय से इस्तीफा ले लिया गया था। राजेश अग्रवाल पर उनकी उम्र और अनुपमा, धर्मपाल पर विभागों में अनियमितता के कारण सीएम नाराज थे। सहकारिता मंत्री मुकुट बिहारी वर्मा ने भी इस्तीफा दिया था, लेकिन स्वीकार नहीं किया गया है। परिवहन मंत्री स्वतंत्र देव सिंह भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष बनने के बाद इस्तीफा दे दिया था। इस्तीफे के बाद मंत्रिमंडल की कुल संख्या 38 रह गई। चार कैबिनेट मंत्रियों के पद लोकसभा चुनाव के बाद खाली हो गए थे।

whatsapp mail