पंजाब और हरियाणा के कुछ हिस्सों में बाढ़ जैसी स्थिति, वायुसेना ने 9 लोगों को बचाया

img

चंडीगढ़
पिछले कुछ दिनों से भारी बारिश के बाद पंजाब और हरियाणा के कई हिस्सों में बाढ़ जैसी स्थिति के बीच पंजाब के मुख्यमंत्री अमरिंदर सिंह ने सोमवार को रूपनगर जिले में स्थिति का जायजा लिया, जबकि भारतीय वायुसेना ने करनाल में बाढग़्रस्त क्षेत्रों से नौ लोगों को बचाया। अधिकारियों ने बताया कि लुधियाना जिले के 10 गांवों में बाढ़ के पानी घुसने के बाद जिले के कुछ हिस्सों से लोगों को निकाला गया। मौसम विभाग ने बताया कि सोमवार की सुबह में पंजाब और हरियाणा के अधिकतर हिस्सों में भारी बारिश होने की सूचना नहीं है। दोनों राज्यों में पिछले तीन दिनों में भारी बारिश हुई।अमरिंदर सिंह ने बाढ़ से क्षति का आकलन करने के लिए बाढ़ प्रभावित रूपनगर जिले का दौरा किया। वहां बाढ़ से प्रभावित लोगों से बात की। उन्होंने रूपनगर में संवाददाताओं से कहा, ''हम तेजी से कार्रवाई करने के लिए प्रतिबद्ध हैं और जल्द से जल्द सामान्य स्थिति बहाल करने पर काम करेंगे। हमारी प्राथमिकता बाढ़ से प्रभावित लोगों के जीवन को बचाने की है। उन्होंने कहा कि एक बार जब बाढ़ का पानी कम हो जाए, तब नुकसान का आकलन करने के लिए राजस्व सर्वेक्षण का आदेश दिया जाएगा। अधिकारियों ने रूपनगर जिले के कई हिस्सों में बाढ़ के मद्देनजर सोमवार को स्कूलों को बंद करने का आदेश दिया था। मुख्यमंत्री के साथ मुख्य प्रधान सचिव सुरेश कुमार, कैबिनेट मंत्री चरणजीत सिंह चन्नी, आनंदपुर साहिब के सांसद और पूर्व केंद्रीय मंत्री मनीष तिवारी सहित अन्य लोग मौजूद थे। हरियाणा में, भारतीय वायुसेना ने यमुना नदी में अचानक पानी बढऩे के कारण करनाल जिले में फंसे नौ लोगों को बचाया। करनाल पुलिस की सहायता से भारतीय वायुसेना ने महिलाओं और बच्चों सहित नौ लोगों को बचाया। हरियाणा के अतिरिक्त पुलिस महानिदेशक (कानून व्यवस्था) नवदीप सिंह विर्क ने कहा कि प्रतिकूल मौसम के बावजूद सोमवार तड़के भारतीय वायुसेना ने बचाव अभियान चलाया। रविवार शाम हरियाणा के यमुनानगर के हथनी कुंड बैराज में जल स्तर खतरनाक रूप से बढ़ गया। पंजाब के मुख्यमंत्री ने राज्य के सभी उपायुक्तों को भी स्थिति पर नजर रखने के निर्देश दिए हैं।

whatsapp mail