सीबीआई से बचने के लिए संघ और भाजपा के चरणों में गिर गए थे लालू : सुशील मोदी

img

पटना
बिहार के उप मुख्यमंत्री सुशील कुमार मोदी ने बुधवार को कहा कि लालू जरूरत पडऩे पर किसी के भी पैर पकड़ सकते हैं। डिप्टी सीएम ने दावा किया कि सीबीआई से बचने के लिए लालू यादव संघ और भाजपा के चरणों में गिर गए थे। चारा घोटाले से जुड़े एक मामले में सजा होने के बाद लालू ने कोर्ट में दलील दी थी कि इससे जुड़े जो अन्य मामले चल रहे हैं, उनका अलग ट्रायल न कराया जाए। सुशील मोदी ने दावा किया- लालू की याचिका के खिलाफ सीबीआई जब सुप्रीम कोर्ट गई, तब उन्होंने प्रेम गुप्ता को अपना दूत बनाकर केंद्रीय मंत्री अरुण जेटली के पास भेजा था। लालू ने भी जेटली से मुलाकात कर सीबीआई से बचाने की मांग की थी। सुशील मोदी ने कहा- लालू ने जेटली से कहा था कि अगर आप हमें सीबीआई से बचा लें तो हम बिहार में नीतीश कुमार को धूल चटा देंगे।जदयू से विधायक तोड़कर बिहार में सरकार बना लेंगे। आप जैसा कहेंगे, हम वैसा करेंगे। मोदी ने कहा कि लालू अपनी जरूरत के लिए किसी के भी पैर पकड़ सकते हैं। डिप्टी सीएम ने कहा कि जेटली ने लालू की मदद से साफ इनकार कर दिया था। जेटली का कहना था कि हम इस मामले में आपकी कोई मदद नहीं कर सकते हैं। भाजपा सीबीआई के मामलों में कोई हस्तक्षेप नहीं करती है।

चारा घोटाला मामले में सजा काट रहे हैं लालू यादव
लालू यादव चारा घोटाला मामले में होटवार जेल में सजा काट रहे हैं। तबीयत खराब होने की वजह से वे रिम्स में भर्ती हैं। चारा घोटाले के 5 मामलों में से तीन पर फैसला आ चुका है। झारखंड हाईकोर्ट ने लालू को चाईबासा ट्रेजरी घोटाला के 2 मामलों में 5-5 साल और देवघर ट्रेजरी घोटाला में साढ़े तीन साल की सजा सुनाई है। दुमका और डोरंडा ट्रेजरी केस में फैसला आना बाकी है। रेलवे टेंडर घोटाला मामले में भी लालू के खिलाफ पटियाला कोर्ट में केस चल रहा है। 

whatsapp mail