क्या हुआ जब गुरु नानक देव पहुंचे खुदा के घर...

img

गुरु नानक जयंती जिसे प्रकाश पर्व भी कहते हैं कार्तिक पूर्णिमा के दिन मनाई जाती है। सिख धर्म के संस्थापक संत नानक देव का जन्मदिन इस बार 23 नवंबर को है। गुरु नानक देव जी को प्रमुख रूप से सिख धर्म का गुरु माना जाता है लेकिन अन्य धर्मों के लोग भी इनको बहुत ही श्रद्धा भाव से मानते हैं। गुरु नानक जी ने धर्म और जातियों के बीच की खाई को कम करने के लिए कई संदेश दिए हैं। गुरु नानक देव ने अपने जीवन काल में अरब देशों की यात्राएं की थी जहां पर उन्होंने कई संदेश दिए थे। अपनी यात्रा के दौरान एक बार वे मुस्लिमों के सबसे पवित्र स्थान मक्का-मदीना पहुंचे
अपनी यात्रा के दौरान एक बार वे मुस्लिमों के सबसे पवित्र स्थान मक्का-मदीना पहुंचे। जहां पर उनके साथ कुछ मुस्लिम भी थे।  जब गुरु नानक मक्का पहुंचे तो सूरज अस्त चुका था। सभी यात्री काफी थक चुके थे। मक्का में मुस्लिमों का पवित्र  स्थान काबा है। गुरुजी रात के समय थकान होने के कारण काबा की तरफ पैर रखकर सो गए। कुछ देर बाद एक मुस्लिम व्यक्ति ने आकर नानक देव को जगाया और कहा कि इधर पैर करके न सोएं इस तरफ पवित्र काबा है। 
 

whatsapp mail