आस्था के वो दरबार, जो बनाते हैं नेताओं की सरकार

img

विधानसभा चुनाव के चरम पर आते ही क्या प्रत्याशी और क्या पार्टी के मुखिया अपनी जीत सुनिश्चित करने के लिए हर तरह के रास्ते अपना रहे हैं। राजनीति के मैदान में बाजी मारने के लिए इन दिनों तमाम छोटे-बड़े नेताओं का तीर्थ स्थानों में जाकर पूजा-अर्चना और मन्नतें मांगने का क्रम जारी है। सत्ता पर काबिज होने की कामना लिए कहीं कोई खुले आम जाकर देवी-देवताओं के दरबार में माथा टेक रहा है तो कहीं कोई गुप्त तरीके से हवन-अनुष्ठान करवा रहा है।  खबरों की खबर में हैं कांग्रेस पार्टी के अध्यक्ष राहुल गांधी, जिन्होंने हाल ही में तीर्थ नगरी उज्जैन के महाकाल मंदिर में जाकर जीत की कामना के साथ महाकाल का विशेष पूजन किया है। हालांकि यह कोई नई बात नहीं है, इसी महाकाल के मंदिर में प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान भी सपत्नीक शिव की साधना करने के लिए अक्सर पहुंचते रहते हैं। जिन्हें सूबे की सत्ता से हटाने के लिए राहुल गांधी इन दिनों एड़ी-चोटी का जोर लगाए हुए हैं।

whatsapp mail