स्विस ओपन बैडमिंटन टूर्नामेंट में भारतीय चुनौती की अगुआई करेंगे साइना, समीर

img

बासेला
दो बार की चैंपियन साइना नेहवाल और गत चैंपियन समीर वर्मा आल इंग्लैंड की निराशा को भुलाकर मंगलवार से यहां क्वालीफायर के साथ शुरू हो रहे स्विस ओपन बैडमिंटन टूर्नामेंट में भारतीय चुनौती की अगुआई करेंगे। समीर ने पिछले साल इसी टूर्नामेंट के साथ अपने शानदार अभियान की शुरआत की थी और फिर विश्व टूर फाइनल्स के सेमीफाइनल में जगह बनाने में सफल रहे थे। उन्होंने इसके साथ ही करियर की सर्वश्रेष्ठ 11वीं रैंकिंग भी हासिल की। दुनिया के 14वें नंबर के खिलाड़ी समीर इस 150000 डालर इनामी टूर्नामेंट के पहले दौर में क्वालीफायर से भिड़ेंगे। बर्मिंघम में आल इंग्लैंड चैंपियनशिप में डायरिया के कारण साइना का प्रदर्शन प्रभावित हुआ था और वह इससे तेजी से उबरते हुए अपने अभियान की शुरुआत क्वालीफायर के खिलाफ करेंगी। इससे पहले 2011 और 2012 में यहां खिताब जीत चुकी तीसरी वरीय साइना की नजरें तीसरे खिताब पर हैं। पुरुष एकल में साइना के पति और राष्ट्रंडल खेलों के पूर्व चैंपियन पारूपल्ली कश्यप को पहले दौर में क्वालीफायर से भिडऩा है जबकि प्रणीत का सामना इंग्लैंड के राजीव ओसेफ से होगा। शुभंकर डे पहले दौर में क्वालीफायर के खिलाफ उतरेंगे। महिला एकल में साइना के अलावा सिर्फ वैष्णवी जक्का रेड्डी कोर्ट पर हैं। वह पहले दौर में एस्टोनिया की क्रिस्टिन कुबा से भिड़ेंगी। पुरुष एकल में अर्जुन एमआर और रामचंद्रन श्लोक तथा मनु अत्री और बी सुमित रेड्डी भारतीय चुनौती की अगुआई करेंगे। जबकि महिला युगल में अश्विनी पोनप्पा और एन सिक्की रेड्डी तथा पूजा दांडू और संजना संतोष पर नजरें होंगी। मिश्रित युगल में प्रणव जैरी चोपड़ा और सिक्की के अलावा अर्जुन एमआर और मीनाक्षी के तथा ध्रुव कपिला और कुहू गर्ग भारत का प्रतिनिधित्व करेंगे। क्वालीफायर में रिया मुखर्जी और रुषाली गुम्मादी हिस्सा लेंगे। समीर को अपने बड़े भाई सौरभ से भिडऩा था लेकिन वह चोट के कारण टूर्नामेंट से हट गए। समीर को दूसरे दौर में हमवतन भारतीय बी साई प्रणीत का सामना करना पड़ सकता है और अगर वह इस मैच में जीत दर्ज करने में सफल रहे तो उन्हें दुनिया के पूर्व नंबर एक खिलाड़ी विक्टर एक्सेलसेन से हिसाब चुकता करने का मौका मिल सकता है जिन्होंने उन्हें पिछले हफ्ते आल इंग्लैंड चैंपियनशिप के पहले दौर में हराया था। 

whatsapp mail