एशियाई मुक्केबाजी चैम्पियनशिप के फाइनल में पहुंचे कविंदर बिष्ट

img

बैंकाक
कविंदर सिंह बिष्ट (56 किग्रा) ने शानदार प्रदर्शन करते हुए तीन अन्य भारतीयों के साथ गुरूवार को यहां एशियाई मुक्केबाजी चैम्पियनशिप के फाइनल में प्रवेश किया। दीपक सिंह (49 किग्रा) और आशीष कुमार (75 किग्रा) पुरूष फाइनल में बिष्ट के साथ शामिल हो गये जबकि पूजा रानी (75 किग्रा) ने महिलओं के ड्रा में से जगह बनायी। अनुभवी एल सरिता देवी (60 किग्रा) और पिछले चरण की रजत पदकधारी मनीषा (54 किग्रा) को कांस्य पदक से संतोष करना पड़ा। दीपक को लगातार दूसरा वाकओवर मिला। कजाखस्तान के तेमिरतास झुसुपोव ने चोट के कारण हटने का फैसला किया जिससे राष्ट्रीय चैम्पियन सीधे फाइनल में पहुंच गया। 
कविंदर बिष्ट ने क्वार्टरफाइनल में मौजूदा विश्व चैम्पियन कजाखस्तान के काईरात येरालिएव को पराजित किया। इसके बाद उन्होंने मंगोलिया के एंख-अमर खाखु को अपने पंच से पस्त किया जिनकी आंख में दूसरे दौर में चोट लग गयी। लेकिन मंगोलियाई मुक्केबाज ने भी कविंदर बिष्ट की आंख चोटिल कर दी। पर यह भारतीय इसमें जीत हासिल करने में सफल रहा। आशीष ने ईरान के सेयेदशाहिन मौसावी को अपने तेज तर्रार मुक्कों से वापसी का कोई मौका नहीं दिया और फाइनल में प्रवेश किया। महिलाओं में मनीषा ताईवान की हुआंग सियाओ वेन से हार गयी जबकि सरिता (60 किग्रा) को चीन की यांग वेनलू से पराजय मिली। पूजा (75 किग्रा) ने कजाखस्तान की फरीजा शोलटे पर जीत हासिल की। 

whatsapp mail