20 वर्ष के अंशुमन रथ हैं हांगकांग के कप्तान, भारत से है खास रिश्ता

img

दुबई
इस बार एशिया कप में क्वालीफाइंग मुकाबलों की बाधा पार करके हांगकांग की टीम ने शानदार एंट्री की। ये टीम अपने 20 वर्षीय कप्तान अंशुमन रथ की कप्तानी में बेहतरीन प्रदर्शन करते हुए एशिया कप टूर्नामेंट में प्रवेश करने वाली छठी टीम बनी। हांगकांग की टीम ने आखिरी बार एशिया कप में वर्ष 2008 में हिस्सा लिया था। इसके बाद इस बार इस टीम को इस टूर्नामेंट में खेलने का मौका मिला। जाहिर तौर पर इसका श्रेय पूरी टीम के साथ-साथ कप्तान को भी जाता है। अंशुमन वैसे तो हांगकांग से क्रिकेट खेलते हैं और वहां के कप्तान हैं लेकिन उनका भारत से खास नाता है। उनका जन्म भी हांगकांग में ही हुआ लेकिन उनके माता-पिता मूल रूप से ओडिशा से ताल्लुक रखते हैं। अंशुमन के माता-पिता 90 के दशक में ही हांगकांग चले गए थे और वहीं बस गए। हांगकांग में पले-बढ़े अंशुमन को भारत से काफी लगाव है और वो अपने रिश्तेदारों से मिलने यहां आते रहते हैं। अंशुमन ने भारत के पूर्व क्रिकेटर सचिन तेंदुलकर को देखकर ही क्रिकेटर बनने का सपना संजोया था। महज छह वर्ष की उम्र में यानी वर्ष 2003 विश्व कप के दौरान सचिन की बल्लेबाजी देखकर अंशुमन इतने प्रभावित हुए कि उन्होंने ठान लिया कि उन्हें क्रिकेट ही खेलना है। उस विश्व कप में सचिन ने कमाल की बल्लेबाजी की थी। और 11 मैचों में सबसे ज्यादा 673 रन बनाए थे। वो मैन ऑफ द सीरीज बने थे और भारत इस विश्व कप के फाइनल में पहुंचा था। अंशुमन अभी सिर्फ 20 वर्ष के हैं लेकिन हांगकांग में उनकी तुलना धौनी से की जाती है। दरअसल माही की तरह वो भी विकेटकीपर-बल्लेबाज हैं। उन्हें काफी कम उम्र में ही टीम की कप्तानी सौंप दी गई। अंशुमन ने अब तक अपनी टीम के लिए कुल 16 वनडे मैच खेले हैं और इसमें उन्होंने 52.57 की औसत से 736 रन बनाए हैं। उनके नाम पर एक शतक भी है और वनडे में उनका सर्वाधिक स्कोर नाबाद 143 रन है। 

whatsapp mail