ऑस्ट्रेलिया ने भारत से पर्थ टेस्ट 146 रनों से जीता, सीरीज 1-1 से बराबर

img

पर्थ
भारतीय टीम 287 रनों के लक्ष्य का पीछा करते हुए पांचवें दिन लंच से पहले ही 140 रनों पर सिमट गई । इस जीत के साथ ही मेजबान टीम ने सीरीज में 1-1 से बराबरी हासिल कर ली। चार टेस्ट मैचों की सीरीज का तीसरा टेस्ट 26 दिसंबर से मेलबर्न में खेला जाएगा। भारत ने एडिलेड टेस्ट 31 रनों से जीता था। ऑस्ट्रेलिया की ओर से दूसरी पारी में मिशेल स्टार्क और नाथन लियोन ने 3-3 विकेट हासिल किए, जबकि जोश हेजलवुड और पैट कमिंस ने 2-2 विकेट चटकाए. मैच में कुल 8 (5+3) विकेट झटकने वाले ऑफ स्पिनर नाथन लियोन 'मैन ऑफ द मैच' रहे। आखिरी दिन भारतीय टीम अपने स्कोर में महज 28 रन ही जोड़ पाई। दूसरे क्रिकेट टेस्ट के चौथे दिन 287 रनों के लक्ष्य का पीछा करने उतरे भारत ने 112 रनों पर 5 विकेट गंवा दिए थे। दिन का खेल खत्म होने तक हनुमा विहारी 24 और ऋषभ पंत नौ रन बनाकर खेल रहे थे। पांचवें दिन मंगलवार को जसप्रीत बुमराह (0) आखिरी विकेट के रूप में आउट हुए। उन्हें पैट कमिंस ने अपनी ही गेंद पर लपका. इससे पहले ईशांत शर्मा (0) को कमिंस ने ही लौटाया, टिम पेन ने विकेट के पीछे कैच लपका. भारत का 140 के स्कोर पर 9वां विकेट गिरा। उमेश यादव (2) को मिशेल स्टार्क ने कॉट एंड बोल्ड किया. भारत ने 139 रनों के स्कोर पर आठवां विकेट गंवाया। ऋषभ पंत (30)  को नाथन लियोन ने अपनी फिरकी में फंसाया। पीटर हैंडस्कॉम्ब ने मिडविकेट पर उन्हें लपका। 137 रनों पर भारत ने 7वां विकेट गंवाया। इससे पहले हनुमा विहारी (28) को मिशेल स्टार्क ने लौटाया। मार्कस हैरिस ने मिडविकेट पर कैच लपका। भारत को 119 रनों के स्कार पर छठा झटका लगा। पहली पारी में 43 रनों की बढ़त हासिल करने वाले ऑस्ट्रेलियाई टीम ने उस्मान ख्वाजा (72) और कप्तान टिम पेन (37) के बीच पांचवें विकेट की 72 रनों की साझेदारी की बदौलत दूसरी पारी में 243 रन बनाए थे। लक्ष्य का पीछा करते हुए भारत की शुरुआत बेहद खराब रही। टीम ने पारी की चौथी ही गेंद पर केएल राहुल का विकेट गंवा दिया, जो खाता खोले बिना ही मिशेल स्टार्क की गेंद को विकेटों पर खेल गए। एडिलेड में पहले टेस्ट में भारत की जीत के हीरो रहे चेतेश्वर पुजारा भी चार रन बनाने के बाद हेजलवुड की उछाल लेती गेंद पर विकेटकीपर टिम पेन को कैच दे बैठे। पहली पारी में पांच विकेट चटकाने वाले ऑफ स्पिनर नाथन लियोन ने विराट कोहली (17) को स्लिप में उस्मान ख्वाजा के हाथों कैच कराके मुरली विजय के साथ उनकी 35 रनों की साझेदारी का अंत किया। विजय भी 20 रन बनाने के बाद लियोन की गेंद पर बोल्ड हो गए. लियोन की गेंद रफ पर टप्पा खाने के बाद तेजी से अंदर आई और विजय के बल्ले का अंदरूनी किनारे से छूने के बाद लेग स्टंप उखाड़ गई। अजिंक्य रहाणे और हनुमा विहारी ने इसके बाद पारी को संभालने की कोशिश की. दोनों ने टीम का स्कोर 98 रनों तक पहुंचाया, लेकिन इसके बाद रहाणे (30) की एकाग्रता भंग हुई और वह हेजलवुड की गेंद पर हवा में शॉट खेलकर प्वाइंट पर ट्रेविस हेड को कैच दे बैठे। भारत के 100 रन 36वें ओवर में पूरे हुए. विहारी और ऋषभ पंत ने हालांकि इसके बाद दिन का खेल खत्म होने तक ऑस्ट्रेलिया को और सफलता नहीं हासिल करने दी. कोहली-पेन के बीच मैदान पर जमकर हुई बहस, अंपायर ने दी चेतावनी इससे पहले ऑस्ट्रेलिया की टीम एक समय बड़े स्कोर की ओर बढ़त दिख रही थी, लेकिन करियर की सर्वश्रेष्ठ गेंदबाजी करने वाले मोहम्मद शमी (56 रन पर छह विकेट) और जसप्रीत बुमराह (39 रन पर तीन विकेट) की बदौलत भारत ने उसे 250 रन से कम के स्कोर पर रोक दिया. शमी ने चौथी बार पारी में पांच या इससे अधिक विकेट चटकाए.

whatsapp mail