ऑस्ट्रेलियाई गेंदबाजों का किया बुरा हाल, दोहरे शतक से चूके चेतेश्वर पुजारा

img

सिडनी
चेतेश्वर पुजारा ने रन बनाने का क्रम जारी रखते हुए भारत को आस्ट्रेलिया के खिलाफ चौथे और अंतिम टेस्ट क्रिकेट मैच के दूसरे दिन लंच तक यहां पांच विकेट पर 389 रन तक पहुंचाया। पुजारा ने विदेशी सरजमीं पर अपना सर्वोच्च स्कोर बनाया। वह लंच के समय 181 रन पर खेल रहे थे। उनके साथ दूसरे छोर पर ऋषभ पंत खड़े थे जिन्होंने 27 रन बनाये हैं। इन दोनों ने अब तक छठे विकेट के लिये 60 रन जोड़े हैं। भारत ने सुबह चार विकेट पर 303 रन से अपनी पारी आगे बढ़ायी। पुजारा ने सातवीं बार 150 रन से अधिक का स्कोर पूरा किया और इस बीच हनुमा विहारी (42) के साथ पांचवें विकेट के लिये अपनी साझेदारी 101 रन पर पहुंचायी। इन दोनों ने क्रीज पर पांव जमाने को तरजीह देकर आस्ट्रेलियाई आक्रमण को परेशानी में रखा। भारत ने विहारी के रूप में दिन का पहला विकेट गंवाया जिन्होंने नाथन लियोन की गेंद पर शार्ट लेग पर कैच दिया। विहारी ने डीआरएस का सहारा लिया लेकिन स्निकोमीटर से लग रहा था कि गेंद ने बल्ले को हल्का स्पर्श किया है। पंत जब आठ रन पर थे तब उनके खिलाफ विकेट के पीछे कैच की अपील को अंपायर ने ठुकरा दिया। टिम पेन ने डीआरएस लिया लेकिन तब गेंद बल्ले पर नहीं लगी थी। इसके बाद पुजारा और पंत ने कोई मौका नहीं दिया। पुजारा ने दूसरे छोर पर अपनी ठोस बल्लेबाजी जारी रखी और 282 गेंदों पर 150 रन पूरे किये। पुजारा ने इसके बाद विदेशी सरजमीं पर अपना सर्वोच्च स्कोर बनाया। इससे पहले विदेशों में उनका उच्चतम स्कोर 153 रन था जो उन्होंने दक्षिण अफ्रीका (जोहानिसबर्ग, 2013) और श्रीलंका (गॉल, 2017) के खिलाफ बनाया था। इसके अलावा वह आस्ट्रेलिया के खिलाफ एक श्रृंखला में 500 से अधिक रन बनाने वाले तीसरे बल्लेबाज बन गये हैं। इससे पहले राहुल द्रविड़ ने 2003-04 और विराट कोहली ने 2014-15 में यह कारनामा किया था। यही नहीं पुजारा इस श्रृंखला में 1200 से अधिक गेंदें खेल चुके हैं। राहुल द्रविड़ ने 2003-04 में आस्ट्रेलिया के खिलाफ 1203 गेंदें खेली थी लेकिन अब यह रिकार्ड पुजारा के नाम पर है। भारत ने श्रृंखला में 2-1 से अजेय बढ़त बना रखी है। उसने एडीलेड में पहला मैच 31 रन से और मेलबर्न में तीसरा टेस्ट 137 रन से जीता था। आस्ट्रेलिया ने पर्थ में खेले गये दूसरे टेस्ट मैच में 146 रन से जीत दर्ज की थी।

whatsapp mail