सनराइजर्स के खिलाफ मुकाबले से पहले निचले क्रम की अस्थिरता से चिंतित है दिल्ली कैपिटल्स

img

नई दिल्ली
शानदार फार्म में चल रहे सनराइजर्स हैदराबाद के खिलाफ आईपीएल मैच से पहले दिल्ली कैपिटल्स के कप्तान श्रेयस अय्यर को निचले क्रम के अनियमित प्रदर्शन की समस्या से पार पाना होगा। किंग्स इलेवन पंजाब के खिलाफ निचले क्रम के बल्लेबाज टिक नहीं सके। इससे पहले कोलकाता नाइट राइडर्स के खिलाफ भी यही हाल हुआ था। दूसरी ओर लगातार दो जीत दर्ज करके सनराइजर्स के हौसले बुलंद हैं। दिल्ली ने तीन बार की पूर्व चैम्पियन मुंबई इंडियंस को हराकर शानदार शुरूआत की थी लेकिन उसके बाद से निचला क्रम उसकी परेशानी का सबब बना हुआ है। दिल्ली आठ टीमों में चार मैच के बाद दो जीत के साथ पांचवें स्थान पर है।केकेआर के खिलाफ आखिरी ओवर में टीम छह रन नहीं बना सकी और मैच सुपर ओवर तक खिंचा। सुपर ओवर में कागिसो रबाडा के शानदार यार्कर के चलते टीम जीत सकी। पंजाब के खिलाफ दिल्ली ने पिछले मैच में आखिरी सात विकेट आठ रन के भीतर गंवा दिये और 14 रन से हार गई। उसके बाद अय्यर ने कहा था ,'' मेरे पास शब्द नहीं है।यह निराशाजनक है।यह अहम मैच था और ऐसे मैच नहीं हारने चाहिये।हमें मानसिक तैयारी बेहतर करनी होगी। दिल्ली के पास रबाडा के अलावा ट्रेंट बोल्ट और ईशांत शर्मा जैसे गेंदबाज है। नेपाल के लेग स्पिनर संदीप लामिछाने ने भी अच्छा प्रदर्शन किया है।असली मुकाबला रबाडा और क्रिस मौरिस जैसे दिल्ली के तेज गेंदबाजों और शानदार प्रदर्शन कर रहे डेविड वार्नर तथा जानी बेयरस्टा जैसे सनराइजर्स के बल्लेबाजों के बीच होगा। वार्नर और बेयरस्टा ने इस साल तीनों मैचों में शतकीय साझेदारियां की है। केकेआर के खिलाफ 118 रन की साझेदारी के बाद उन्होंने रायल्स के खिलाफ 110 और आरसीबी के खिलाफ 185 रन जोड़े। आरसीबी के खिलाफ पिछले मैच में वार्नर और बेयरस्टा दोनों ने शतक जमाये ।वार्नर ने रायल्स के खिलाफ 37 गेंद में 69 रन बनाये जबकि आरसीबी के खिलाफ 55 गेंद में नाबाद 100 रन की पारी खेली केकेआर के खिलाफ पहले मैच में उन्होंने 85 रन बनाये थे। केकेआर से पहला मैच छह विकेट से हारने के बाद सनराइजर्स ने जीत की राह पर वापसी की और अब वे इसकी हैट्रिक लगाना चाहेंगे। अफगान स्पिनर मोहम्मद नबी और रशीद खान ने भी जीत में सूत्रधार की भूमिका निभाई जबकि तेज गेंदबाज संदीप शर्मा ने चार विकेट लिये। लेकिन अनुभवी तेज गेंदबाज भुवनेश्वर कुमार का डैथ ओवरों में औसत प्रदर्शन चिंता का सबब है।

whatsapp mail