स्वदेश लौटने से पहले केएक्सआईपी पर बरसे डेविड वॉर्नर, राशिद भी चमके

img

हैदराबाद
बेहतरीन फार्म में चल रहे सलामी बल्लेबाज डेविड वार्नर के अर्धशतक के बाद लेग स्पिनर राशिद खान के फिरकी के जादू से सनराइजर्स हैदराबाद ने इंडियन प्रीमियर लीग में सोमवार को यहां किंग्स इलेवन पंजाब को 45 रन से हराकर प्लेआफ में क्वालीफाई करने की ओर कदम बढ़ाए। वार्नर की 56 गेंद में सात चौकों और दो छक्कों की मदद से 81 रन की पारी से सनराइजर्स ने छह विकेट पर 212 रन बनाए। वार्नर ने साथी सलामी बल्लेबाज रिद्धिमान साहा (28) के साथ पहले विकेट के लिए 78 और मनीष पांडे (36) के साथ दूसरे विकेट के लिए 82 रन की साझेदारी करके सनराइजर्स के बड़े स्कोर का मंच तैयार किया। कप्तान आर अश्विन पंजाब के सबसे सफल गेंदबाज रहे जिन्होंने 30 रन देकर दो विकेट चटकाए। मोहम्मद शमी ने 36 रन देकर दो विकेट हासिल किए जबकि एम अश्विन और अर्शदीप सिंह को एक-एक विकेट मिला। आफ स्पिनर मुजीब उर रहमान काफी महंगे साबित हुए जिन्होंने चार ओवर में 66 रन लुटाए जबकि उन्हें कोई विकेट नहीं मिला। इसके जवाब में पंजाब की टीम राशिद (21 रन पर तीन विकेट), खलील अहमद (40 रन पर तीन विकेट) और संदीप शर्मा (33 रन पर दो विकेट) की उम्दा गेंदबाजी के सामने आठ विकेट पर 167 रन ही बना सकी। टीम की ओर से सलामी बल्लेबाज लोकेश राहुल ने 56 गेंद में पांच छक्कों और चार चौकों की मदद से 79 रन की पारी खेली लेकिन दूसरे छोर से उन्हें सहयोग नहीं मिला। उनके अलावा कोई बल्लेबाज 30 रन के आंकड़े को भी नहीं छू पाया। इस जीत से सनराइजर्स के 12 मैचों में छह जीत से 12 अंक हो गए हैं और टीम चौथे स्थान पर बरकरार है। पंजाब के 12 मैचों में पांच जीत से 10 ही अंक हैं। लक्ष्य का पीछा करने उतरे किंग्स इलेवन पंजाब ने तीसरे ओवर में 11 रन के स्कोर पर ही आक्रामक सलामी बल्लेबाज क्रिस गेल (04) का विकेट गंवा दिया जिन्होंने खलील की गेंद पर पांडे को कैच थमाया। राहुल और मयंक अग्रवाल ने इसके बाद पावर प्ले में टीम का स्कोरएक विकेट पर 44 रन तक पहुंचाया। राहुल ने खलील पर पारी का पहला छक्का जडऩे के बाद संदीप पर चौका मारा। अग्रवाल ने राशिद पर छक्का जड़ा लेकिन अगली गेंद पर विजय शंकर को कैच दे बैठे। उन्होंने 18 गेंद में दो चौकों और एक छक्के से 27 रन बनाए। निकोलस पूरण (10 गेंद में 21 रन) ने आते ही तेवर दिखाए। उन्होंने नबी पर छक्का जडऩे के बाद खलील के ओवर में दो चौके और एक छक्का मारा लेकिन इसी ओवर में लांग लेंग पर भुवनेश्वर ने उनका शानदार कैच लपका। राशिद ने इसके बाद डेविड मिलर (11) और आर अश्विन (00) को लगातार गेंदों पर पवेलियन भेजा। पंजाब के रनों के रनों का शतक 12वें ओवर में पूरा हुआ। राहुल ने नबी पर लगातार दो छक्कों के साथ 38 गेंद में अर्धशतक पूरा किया। पंजाब को अंतिम पांच ओवर में जीत के लिए 90 रन की दरकार थी। राहुल ने भुवनेश्वर के ओवर में छक्का और चौका मारा जबकि संदीप पर भी छक्का जड़ा लेकिन इसके बावजूद दो ओवर में सिर्फ 22 रन बने। अब तीन ओवर में पंजाब को 68 रन की जरूरत थी। पदार्पण कर रहे प्रभसिमरन सिंह (16) ने भुवनेश्वर पर छक्का जड़ा लेकिन ओवर में 12 ही रन बने। खलील के 19वें ओवर में राहुल भी विलियमसन को कैच दे बैठे जिससे पंजाब की जीत की रही सही उम्मीद भी खत्म हो गई। इससे पहले आर अश्विन ने टास जीतकर पहले गेंदबाजी करने का फैसला किया जिसके बाद वार्नर और साहा ने टीम को तेज शुरुआत दिलाई। वार्नर ने अर्शदीप के पहले ओवर में दो चौकों के साथ शुरुआत की और फिर मुजीब पर छक्का जड़ा। वार्नर ने मुजीब के दूसरे ओवर में भी लगातार दो चौके मारे जबकि साहा ने शमी का स्वागत लगातार गेंदों पर चौके और छक्के के साथ किया। सनराइजर्स ने पावरप्ले में 77 रन जोड़े जो मौजूदा सत्र में पहले छह ओवर में सर्वोच्च स्कोर है। एम अश्विन ने साहा को पदार्पण कर रहे विकेटकीपर प्रभसिमरन सिंह के हाथों कैच कराके सनराइजर्स को पहला झटका दिया। वार्नर और पांडे ने इसके बाद पारी को आगे बढ़ाया और 10वें ओवर में टीम का स्कोर 100 रन के पार पहुंचाया। पांडे 20 रन के स्कोर पर भाग्यशाली रहे जब शमी की गेंद पर आर अश्विन ने मिड आफ पर उनका कैच टपका दिया। वार्नर ने शमी पर चौके के साथ 38 गेंद में सत्र का आठवां अर्धशतक पूरा किया। पांडे ने एम अश्विन पर छक्का जबकि अर्शदीप पर चौका मारा। वह हालांकि एम अश्विन की गेंद पर शार्ट फाइन लेग पर शमी को कैच दे बैठे। उन्होंने 25 गेंद का सामना करते हुए तीन चौके और एक छक्का मारा। अश्विन ने इसी ओवर में वार्नर को भी मुजीब के हाथों कैच कराके 16 ओवर में सनराइजर्स का स्कोर तीन विकेट पर 163 रन किया। कप्तान केन विलियमसन और मोहम्मद नबी ने मुजीब के 18वें ओवर में 26 रन बटोरे। विलियमसन ने इस स्पिनर की लगातार गेंदों पर चौका और छक्का मारा जबकि नबी ने भी इस ओवर में दो छक्के जड़े। शमी ने हालांकि विलियमसन (14) और नबी (20) दोनों को अगले ओवर में पवेलियन भेज दिया। विजय शंकर ने ओवर की अंतिम गेंद पर दो रन के साथ टीम के 200 रन पूरे किए। पारी के अंतिम ओवर में अर्शदीप ने राशिद खान (01) को बोल्ड किया।

whatsapp mail