भारतीय महिला टीम जीत की हैट्रिक से विश्व टी20 सेमीफाइनल में

img

प्रोविडेन्स (गयाना) 
मिताली राज की चुनौतीपूर्ण परिस्थितियों में खेली गयी अर्धशतकीय पारी तथा स्पिनरों की कसी हुई गेंदबाजी से भारत ने गुरुवार को यहां आयरलैंड को 52 रन से करारी शिकस्त देकर लगातार तीसरी जीत के साथ आईसीसी महिला विश्व टी 20 के सेमीफाइनल में प्रवेश किया। मिताली ने 56 गेंदों पर 51 रन बनाये। उन्होंने स्मृति मंदाना (29 गेंदों पर 33 रन) के साथ पहले विकेट के लिये 67 और जेमिमा रोड्रिग्स (11 गेंदों पर 18) के साथ दूसरे विकेट के लिये 40 रन की दो उपयोगी साझेदारियां की जिससे भारत ने छह विकेट पर 145 रन का चुनौतीपूर्ण स्कोर खड़ा किया। इसके जवाब में आयरलैंड की टीम आठ विकेट पर 93 रन ही बना पायी। उसकी दो बल्लेबाज इसोबेल जोएसे (33) और क्लेरी शिलिंगटन (23) ही दोहरे अंक में पहुंची। भारत की तरफ से बायें हाथ की स्पिनर राधा यादव ने 25 रन देकर तीन और आफ स्पिनर दीप्ति यादव ने 15 रन देकर दो विकेट लिये। बल्लेबाजी में नाकाम रही कप्तान हरमनप्रीत कौर ने अपनी आफ स्पिन का कमाल दिखाया और चार ओवर में दस रन देकर एक विकेट जबकि एक अन्य स्पिनर पूनम यादव ने चार ओवर में 14 रन देकर एक विकेट लिया। इससे पहले न्यूजीलैंड और पाकिस्तान को हराने वाले भारत के तीन मैचों में छह अंक हो गये हैं। वह ग्रुप बी से आस्ट्रेलिया के बाद सेमीफाइनल में जगह बनाने वाली दूसरी टीम है। भारत अपना अंतिम मैच आस्ट्रेलिया से ही 17 नवंबर को खेलेगा जिससे ग्रुप में शीर्ष पर रहने वाली टीम का निर्धारण होगा। भारत ने शुरू से कसी हुई गेंदबाजी की तथा पावरप्ले में केवल 30 रन दिये और इस बीच सलामी बल्लेबाज गैबी लुईस (नौ) को पवेलियन भेजा जिन्हें दीप्ति ने अपनी पहली गेंद पर बोल्ड किया। सलामी बल्लेबाज शिलिंगटन ने देर तक एक छोर संभाले रखा। लेग स्पिनर पूनम यादव ने पहले उन्हें गुगली पर छकाया और फिर लेग ब्रेक पर गच्चा दिया। इस बार तानिया भाटिया ने स्टंप आउट करने में देर नहीं लगायी। तानिया ने कुल तीन बल्लेबाजों को स्टंप आउट किया। राधा यादव ने लॉरा डेलेनी (17 गेंदों पर नौ रन) की संघर्षपूर्ण पारी का अंत किया जबकि दीप्ति ने शॉना कवानाग को पगबाधा आउट किया। हरमनप्रीत ने जोएसे को पवेलियन भेजा जिन्होंने 38 गेंदें खेली तथा चार चौके लगाये। इससे पहले भारत को टास हारने बाद बारिश के कारण चुनौतीपूर्ण बनी परिस्थितियों में पहले बल्लेबाजी करनी पड़ी।
मिताली और मंदाना ने शुरू में सतर्कता बरती जिससे पहले चार ओवरों में केवल 16 रन ही बन पाये। अगले दो ओवरों में हालांकि 26 रन बन गये जिससे पावरप्ले तक स्कोर बिना किसी नुकसान के 42 रन पहुंच गया। मिताली ने आफ स्पिनर इमीर रिचर्डसन पर लांग आफ पर छक्का जड़कर चुप्पी तोड़ी और फिर लारा मारित्ज के अगले ओवर में लगातार दो चौके लगाये। मंदाना भी उनसे प्रभावित हुई और उन्होंने लेग स्पिनर सेलेस्टी रैक पर लांग आन पर छक्का लगाकर सात ओवर में भारत का स्कोर 50 रन पर पहुंचाया। मध्यम गति की गेंदबाज किम गार्थ (22 रन देकर दो विकेट) शुरू से भारतीयों के लिये परेशानी खड़ी करती रही। उन्होंने मंदाना को बोल्ड करके भारत को पहला झटका दिया। नई बल्लेबाज जेमिमा ने स्टंप आउट होने से पहले तीन चौके लगाये। न्यूजीलैंड के खिलाफ शतक जडऩे वाली कप्तान हरमनप्रीत (सात) ने रिचर्डसन पर लांग आन पर छक्का लगाया लेकिन अगली गेंद को वह सीमा रेखा पार भेजने में नाकाम रही और डीप एक्स्ट्रा कवर में लपक ली गयी। वेदा कृष्णमूर्ति (नौ) भी लूसी ओ रिली की यार्कर पर बोल्ड हो गयी। मिताली ने 54 गेंदों पर अपने टी20 करियर का 17वां अर्धशतक पूरा किया। इसके तुरंत बाद हालांकि वह गार्थ की धीमी गेंद पर गच्चा खा गयी और विकेटकीपर मैरी वाल्ड्रोन को कैच दे बैठी। मिताली ने अपनी पारी में चार चौके और एक छक्का लगाया। दीप्ति शर्मा 11 रन बनाकर नाबाद रही।

whatsapp mail