राजस्थान रायल्स पर शाही जीत से कोलकाता नाइटराइडर्स शीर्ष पर

img

जयपुर
गेंदबाजों के अनुशासित प्रदर्शन के बाद क्रिस लिन और सुनील नारायण से मिली शानदार शुरुआत के दम पर कोलकाता नाइटराइडर्स ने रविवार को यहां राजस्थान रायल्स पर रायल्स के खिलाफ आईपीएल मैच में 37 गेंद शेष रहते हुए आठ विकेट से एकतरफा जीत दर्ज की। राजस्थान रायल्स की टीम पहले बल्लेबाजी का न्यौता पाने के बाद तीन विकेट पर 139 रन ही बना पायी। यह आईपीएल में पूरे 20 ओवर खेलकर तीन या इससे कम विकेट गंवाने के बाद सबसे न्यूनतम स्कोर है। स्टीवन स्मिथ ने 59 गेंदों में नाबाद 73 रन बनाये जिसमें सात चौके और एक छक्का शामिल हैं। उन्होंने जोस बटलर (34 गेंदों पर 37) के साथ दूसरे विकेट के लिये 72 रन की साझेदारी की। केकेआर ने केवल 13.5 ओवर में दो विकेट पर 140 रन बनाकर आसान जीत दर्ज की और अपने रन रेट में भी सुधार किया। लिन और नारायण ने पहले विकेट के लिये 91 रन जोड़कर जीत को औपचारिकता बना दिया। लिन ने 32 गेंदों पर छह चौकों और तीन छक्कों की मदद से 50 जबकि नारायण ने 25 गेंदों पर छह चौकों और तीन छक्कों की मदद से 47 रन बनाये। रोबिन उथप्पा 16 गेंदों पर 26 रन और शुभमान गिल छह रन बनाकर नाबाद रहे। केकेआर की यह पांच मैचों में चौथी जीत है और चेन्नई सुपरकिंग्स से बेहतर रन गति के कारण वह अंकतालिका में भी शीर्ष पर पहुंच गया है। राजस्थान की यह पांच मैचों में चौथी हार है जिससे उसके लिये आगे की राह कठिन हो गयी है। केकेआर ने कसी हुई गेंदबाजी करके रायल्स को खुलकर नहीं खेलने दिया जिसके बल्लेबाजों ने विकेट बचाये रखने पर अधिक ध्यान दिया। अपना पहला आईपीएल मैच खेल रहे बायें हाथ के तेज गेंदबाज हैरी गुर्नी ने 25 रन देकर दो विकेट लिये। स्पिन त्रिमूर्ति सुनील नारायण (चार ओवर में 22 रन) पीयूष चावला (चार ओवर में 19 रन) और कुलदीप यादव ने रनों पर अंकुश लगाया। तेज गेंदबाज प्रसिद्ध कृष्णा (35 रन देकर एक) ने अगर बीच बीच में ढीली गेंदें नहीं की होती तो उनका गेंदबाजी विश्लेष्ण बेहतर होता। कप्तान दिनेश कार्तिक की भी तारीफ करनी होगी जिन्होंने गेंदबाजी में रणनीतिक बदलाव किये। इसके विपरीत अंजिक्य रहाणे ने शुरू में ही नारायण के सामने कृष्णप्पा गौतम को गेंद सौंपने की गलती की। स्पिनरों के सामने अक्सर अच्छा प्रदर्शन करने वाले नारायण ने इस आफ स्पिनर के पारी के दूसरे ओवर में चार चौकों और एक छक्के की मदद से 23 रन बटोरे। इस बीच भाग्य ने भी केकेआर का साथ दिया। धवल कुलकर्णी के ओवर में राहुल त्रिपाठी ने नारायण का आसान कैच छोड़ा जबकि अगली गेंद ने लिन के विकेटों को चूमा लेकिन गिल्लियां नहीं गिरी। केकेआर ने पावरप्ले के छह ओवरों में 65 रन बनाकर एकतरफा जीत की नींव रखी। लिन ने नारायण का पूरा साथ दिया। जिस पिच पर रायल्स के बल्लेबाज रन बनाने के लिये जूझ रहे थे उस पर इन दोनों ने सहजता से रन बटोरे। नारायण ने लेग स्पिनर सुदेशण मिथुन पर दो छक्के लगाये लेकिन वह अर्धशतक पूरा नहीं कर पाये और एक अन्य लेग स्पिनर श्रेयस गोपाल की गुगली पर कट करने के प्रयास में स्लिप में कैच दे बैठे। लिन ने गोपाल को निशाने पर रखा और उन पर दो छक्के लगाये लेकिन अर्धशतक पूरा करने के तुरंत बाद इसी गेंदबाज ने उन्हें आसान कैच देने के लिये मजबूर किया। उथप्पा ने हालांकि गोपाल पर दो छक्के जड़कर उनकी खुशी जल्द ही काफूर कर दी। इससे पहले रायल्स ने रहाणे (पांच) का विकेट दूसरे ओवर में गंवा दिया। कृष्णा ने उन्हें गुडलेंथ गेंद पर पगबाधा आउट किया। इसके बाद बटलर और स्मिथ ने पारी संवारने का बीड़ा उठाया लेकिन उन्हें रन बनाने के लिये जूझना पड़ा। रायल्स का स्कोर दस ओवर के बाद एक विकेट पर 56 रन था। इसके बाद इन दोनों बल्लेबाजों ने इसे गति देने का प्रयास किया। बटलर ने गुर्नी पर डीप स्क्वायर लेग पर छक्का लगाया लेकिन अगली गेंद पर सीमा रेखा पर आसान कैच दे बैठे। इससे रन गति फिर से प्रभावित हो गयी और रायल्स स्मिथ के कृष्णा पर लगाये गये दो चौकों की मदद से 15वें ओवर में तिहरे अंक में पहुंच पाया। इसके बाद भी स्मिथ ने ही रन बनाने का जिम्मा संभाले रखा। राहुल त्रिपाठी (आठ गेंदों पर छह रन) और बेन स्टोक्स (14 गेंदों पर नाबाद सात) की लचर बल्लेबाजी के कारण रायल्स को नुकसान हुआ जो उसे महंगा आखिर में महंगा पड़ा।

whatsapp mail