कुलदीप वल्र्ड कप के लिए हमारी पहली पसंद के स्पिनर होंगे: शास्त्री

img

सिडनी
टीम इंडिया के कोच रवि शास्त्री को लगता है कि कलाई के स्पिनर कुलदीप यादव का ऑस्ट्रेलियाई सरजमीं पर टेस्ट में शानदार प्रदर्शन उन्हें इंग्लैंड में होने वाले आगामी वल्र्ड कप में वह प्लेइंग इलेवन में चयन के लिए पहली पसंद का स्पिनर बनाता है।
कुलदीप ने सिडनी में ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ ड्रॉ हुए चौथे टेस्ट की पहली पारी में पांच विकेट हासिल किए और भारतीय कोच ने कलाई के इस स्पिनर की तारीफों के पुल बांधे। शास्त्री ने इंडिया टुडे टीवी चैनल से कहा, 'कुलदीप इससे वल्र्ड कप के लिए खिलाडिय़ों की जमात में आ गया. वह शायद वर्ल्ड कप में खेलने वाली हर भारतीय प्लेइंग इलेवन में शामिल हो सकता है, क्योंकि उसे कलाई से स्पिन करने का फायदा मिलेगा। शास्त्री ने कहा, 'हमें शायद अन्य दो अंगुली के स्पिनरों के बीच चुनने की जरूरत होगी क्योंकि कलाई का यह स्पिनर अब प्राथमिकता सूची में है. युवा विकेटकीपर बल्लेबाज ऋषभ पंत ने भी 350 रन बनाकर प्रभावित किया और वह सर्वाधिक रन बनाने वाले खिलाडिय़ों में दूसरे नंबर पर है। हालांकि उन्हें ऑस्ट्रेलिया और न्यूजीलैंड वनडे के लिए चुनी गई टीम में शामिल नहीं है. शास्त्री ने कहा कि पंत को मैच फिनिश करने की कला सीखने का विशेष काम दिया गया है, जो वर्ल्ड कप के दौरान भारत के लिए काफी अहम होगा। शास्त्री ने कहा, 'हमने उसे इसलिए वापस जाने को कहा क्योंकि वह लगातार क्रिकेट खेल रहा है।
मुझे लगता है कि उसे दो हफ्तों के लिए ब्रेक की जरूरत है और फिर वह भारत ए टीम से जुड़ेगा। उसे एक विशेष काम करने को कहा गया है, जो मैचों को फिनिश करने की है और इसके बाद वह टीम में शामिल हो जाएगा. आलोचनाओं के बारे में शास्त्री पने कहा, 'लोग क्या कहते हैं, कौन परवाह करता है? स्कोरबोर्ड को देखिए, नतीजे देखिए और बाकी सब इतिहास है. आपको बता दें कि सोमवार को भारतीय क्रिकेट टीम ने 72 साल के लंबे इंतजार को खत्म करते हुए ऑस्ट्रेलियाई सरजमीं पर पहली बार टेस्ट सीरीज जीतकर अपने क्रिकेट इतिहास में स्वर्णिम अध्याय जोड़ा. सिडनी क्रिकेट ग्राउंड पर चौथा और अंतिम टेस्ट मैच खराब मौसम और बारिश के कारण ड्रॉ छूटा और इस तरह से भारत सीरीज 2-1 से अपने नाम करने में सफल रहा. इसके साथ ही उसने बॉर्डर गावस्कर ट्रॉफी भी अपने पास बरकरार रखी. भारत ने 2017 में अपने घरेलू मैदानों पर सीरीज 2-1 से जीतकर यह ट्रॉफी जीती थी. भारत ने स्वतंत्रता मिलने के कुछ दिन बाद पहली बार 1947-48 में लाला अमरनाथ की अगुवाई में ऑस्ट्रेलिया का दौरा किया था. तब उसका सामना सर डॉन ब्रैडमैन की अजेय ऑस्ट्रेलियाई टीम से था. तब से लेकर अब जाकर भारत का सीरीज जीतने का इंतजार विराट कोहली की टीम ने खत्म किया।

whatsapp mail