लैंगर को पसंद आई भारत की आक्रामकता, कोहली-पेन की भिड़ंत हास्यपूर्ण

img

पर्थ
आस्ट्रेलिया के कोच जस्टिन लैंगर ने कहा कि उन्हें दूसरे टेस्ट में भारत का आक्रामक लेकिन हद पार नहीं करने का रवैया पसंद आया। कोच ने साथ ही जोर देकर कहा कि विराट कोहली और टिम पेन के बीच बहस हास्यपूर्ण थी, अपमानजनक नहीं। भारतीय कप्तान कोहली और उनके आस्ट्रेलियाई समकक्ष पेन को मैदान पर कई मौकों पर बहस करते हुए देखा गया और इस दौरान एक समय तो वे शारीरिक संपर्क के बेहद करीब पहुंच गए थे। लैंगर ने हालांकि कहा कि उन्हें यह टकराव पसंद आया। लैंगर ने 'फाक्स क्रिकेट' से कहा, ''मुझे लगता है कि यह शानदार था। वे दो कप्तान थे और मैच पर अपना दबदबा जताने का प्रयास कर रहे थे और मुझे नहीं लगता कि किसी भी समय किसी तरह का अपमानजनक रवैया अपनाया गया या किसी तरह की वास्तविक आक्रामकता थी। लैंगर ने कहा कि उन्हें खुशी है कि उनकी टीम टेस्ट मैच के दौरान आक्रामक भारत के खिलाफ डटी रही। उन्होंने कहा, ''ईमानदारी से कहूं तो तीसरे दिन के अंत में सब कुछ काफी भावनात्मक था क्योंकि मुझे लगता है कि भारत बेहद आक्रामक था। मुझे यह पसंद है और यही वास्तव में टेस्ट क्रिकेट है। लेकिन हमें सिर्फ अपने कौशल के दम पर डटे रहने की जरूरत थी और उम्मीद करते हैं कि इस टेस्ट मैच में हमने ऐसा किया। कोहली और पेन जब एक दूसरे से शारीरिक संपर्क के करीब पहुंच गए थे, उस लम्हें के बारे में पूछने पर लैंगर ने कहा, ''मुझे लगता है कि डेनिस लिली और जावेद मियांदाद जैसी घटनाओं के दिन लद चुके हैं। मुझे लगता है कि एंड्रयू साइमंड्स ने मैदान में घुसे दर्शक को एक बार टक्कर मार दी थी लेकिन मौजूदा माहौल में इतने सारे कैमरों के बीच मैं इस तरह की घटना की कल्पना नहीं कर सकता। उन्होंने कहा, ''ऐसा करना पूरी तरह से बेवकूफाना होगा। यह क्रिकेट नहीं है। वे (कोहली और पेन) करीब आए लेकिन कई तरीकों से यह एक दूसरे के संपर्क में आने वाला खेल नहीं है। हमें यह पता है लेकिन यह सब टेस्ट क्रिकेट के थिएटर का हिस्सा है और मुझे इसमें कुछ भी दुर्भावनापूर्ण नजर नहीं आता। आस्ट्रेलियाई टीम मार्च में गेंद से छेड़छाड़ प्रकरण के बाद पहली जीत दर्ज करने में सफल रही जिसके बाद लैंगर ने कहा कि यह जश्न से अधिक राहत लेकर आई। लैंगर ने मैच में शानदार गेंदबाजी करने वाले आफ स्पिनर नाथन लियोन की भी तारीफ की। उन्होंने कहा, ''मोहम्मद शमी जब आक्रामक गेंदबाजी कर रहा था (चौथे दिन दूसरी पारी में) तो मैं इसे देखकर नर्वस था और सोच रहा था कि क्या हमें अब पारी घोषित कर देनी चाहिए क्योंकि हम नहीं चाहते थे कि नाथन लियोन (या हमारे अन्य किसी गेंदबाज) को कुछ हो।

whatsapp mail