फेल्प्स ने आईपीएल का लिया आनंद, पर कहा यह खेल नहीं बना है उनके लिए

img

नई दिल्ली
बल्ले को कैसे पकडऩा है यह सीखना और गेंद को हवा में तैरते हुए छह रन के लिये जाते हुए देखना उनके लिये मजेदार रहा लेकिन अमेरिका के महान तैराक माइकल फेल्प्स ने कहा कि भले ही उन्होंने अपने पहले भारतीय दौरे में क्रिकेट का पूरा लुत्फ उठाया लेकिन वह इस खेल को नहीं अपना सकते हैं। सर्वकालिक महान ओलंपियन में से एक फेल्प्स ने बुधवार को आईपीएल टीम दिल्ली कैपिटल्स के साथ क्रिकेट सत्र में हिस्सा लिया। इस 33 वर्षीय तैराक ने मीडिया विज्ञप्ति में कहा, दर्शकों का रोमांच, खिलाडिय़ों का छोर बदलना या उन्हें आउट होते हुए देखना रोमांचक लगा। मुझे कल छक्के देखना अच्छा लगा। फेल्प्स ने दिल्ली कैपिटल्स और चेन्नई सुपरकिंग्स के बीच कल आईपीएल मैच देखा। उन्होंने दिल्ली के खिलाडिय़ों से मुलाकात और मैच के बारे में कहा, मुझे नहीं लगता कि क्रिकेट मेरा अगला खेल हो सकता है लेकिन मुझे कल दिल्ली कैपिटल्स के साथ मैच देखना अच्छा लगा।अपने करियर में 23 स्वर्ण पदक सहित 28 ओलंपिक पदक जीतने वाले फेल्प्स ने दिल्ली कैपिटल्स के कप्तान श्रेयस अय्यर, विकेटकीपर बल्लेबाज ऋभष पंत, दक्षिण अफ्रीकी आलराउंडर क्रिस मौरिस और तेज गेंदबाज इशांत शर्मा से भी मुलाकात की। उन्होंने कहा, मैंने आज इन खिलाडिय़ों से कुछ टिप्स लिये। इसकी शुरुआत बल्ला पकडऩे से हुई। इसलिए मुझे विश्वास है कि अगली बार जब मैं भारत दौरे पर आऊंगा तो क्रिकेट खेलने के लिये बेहतर तौर पर तैयार रहूंगा। फेल्प्स ने 2008 बीजिंग ओलंपिक में आठ स्वर्ण पदक जीते थे। उन्होंने जिस स्पर्धा में हिस्सा लिया उसमें सोने का तमगा जीता था। उन्होंने लंदन ओलंपिक 2012 में चार स्वर्ण और दो रजत पदक हासिल किये थे।

whatsapp mail