पुजारा के शतक से भारत मजबूत, मयंक ने भी जीता दिल

img

सिडनी
चेतेश्वर पुजारा के श्रृंखला के तीसरे शतक और सलामी बल्लेबाज मयंक अग्रवाल के साथ उनकी शतकीय साझेदारी से भारत ने चौथे और अंतिम क्रिकेट टेस्ट के पहले दिन गुरुवार को यहां चार विकेट पर 303 रन बनाकर आस्ट्रेलिया के खिलाफ अपना पलड़ा भारी रखा। पुजारा ने 250 गेंद में 16 चौकों की मदद से नाबाद 130 रन की पारी खेलने के अलावा हनुमा विहारी (नाबाद 39) के साथ पांचवें विकेट के लिए 75 रन की अटूट साझेदारी करके भारत को मजबूत स्थिति में पहुंचाया। इससे पहले उन्होंने अग्रवाल (77) के साथ दूसरे विकेट के लिए 116 जबकि कप्तान विराट कोहली (23) के साथ तीसरे विकेट के लिए 54 रन की साझेदारी की। यह पहला मौका है जब पुजारा ने किसी श्रृंखला में तीन शतक जड़े हैं। पुजारा ने अपनी इस पारी के दौरान किसी श्रृंखला में सर्वाधिक गेंद खेलने के लिहाज से अपना सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन किया। वह मौजूदा श्रृंखला में अब तक 1135 गेंद का सामना करते हुए 458 रन बना चुके हैं। इससे पहले उन्होंने 2016-17 में आस्ट्रेलिया के भारत दौरे पर 1049 गेंद का सामना करते हुए 405 रन बनाए थे। रनों के लिहाज से भी यह किसी श्रृंखला में पुजारा का सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन है। इससे पहले उन्होंने 2012-13 में इंग्लैंड के खिलाफ भारत में चार टेस्ट की श्रृंखला में 438 रन बनाए थे। भारत ने टास जीतकर पहले बल्लेबाजी करने का फैसला किया। सीनियर आफ स्पिनर रविचंद्रन अश्विन सुबह फिटनेस टेस्ट में नाकाम रहे और मैच से बाहर हो गए। आस्ट्रेलिया के गेंदबाजी आक्रमण की शुरुआत मिशेल स्टार्क (75 रन पर एक विकेट) और जोश हेजलवुड (51 रन पर दो विकेट) की जोड़ी ने की। मेलबर्न टेस्ट से बाहर रहने के बाद वापसी कर रहे लोकेश राहुल (09) एक बार फिर नाकाम रहे और दूसरे ओवर में ही हेजलवुड की गेंद पर पहली स्लिप में शान मार्श को कैच दे बैठे। कप्तान टिम पेन ने आफ स्पिनर नाथन लियोन (88 रन पर एक विकेट) को 22वें ओवर में पहली बार मौका दिया। मौजूदा श्रृंखला में लियोन पहली बार इतनी देर से गेंदबाजी करने आए। लंच के बाद अग्रवाल और पुजारा ने आक्रामक रुख अपनाया और 178 गेंद में 100 रन की साझेदारी पूरी की। अग्रवाल ने 96 गेंद में अपना दूसरा अर्धशतक पूरा किया। उन्होंने आफ स्पिनर नाथन लियोन पर दो छक्के भी मारे। अग्रवाल शतक की ओर बढ़ रहे थे लेकिन 34वें ओवर में लियोन की गेंद को उठाकर मारने की कोशिश में लांग आफ पर स्टार्क को कैच दे बैठे। अग्रवाल इस गैरजरूरी शाट को खेलने के बाद काफी निराश दिखे। उन्होंने 112 गेंद का सामना करते हुए सात चौके और दो छक्के मारे। कोहली ने हेजलवुड पर चौके के साथ खाता खोला। आस्ट्रेलिया ने रन गति कम रखने के लिए नकारात्मक गेंदबाजी का भी सहारा लिया। जनवरी 2018 से विदेशी सरजमीं पर 12 टेस्ट में भारत की यह छठी सलामी जोड़ी थी। इस दौरान विदेशी सरजमीं पर 23 पारियों में सलामी साझेदारी का औसत सिर्फ 21.56 रहा है। दूसरे छोर पर अग्रवाल ने कर्नाटक के अपने साथी बल्लेबाज राहुल की तुलना में बेहतर प्रदर्शन किया और एक बार फिर ठोस बल्लेबाजी करते हुए कुछ अच्छे कवर ड्राइव लगाए। उन्होंने पुजारा के साथ मिलकर रन गति में इजाफा किया। भारत ने पहले घंटे में एक विकेट पर 46 रन बनाए जबकि मौजूदा दौरे पर कम रन गति सामान्य बात रही है। अग्रवाल और पुजारा ने 104 गेंद में अर्धशतकीय साझेदारी पूरी की। आस्ट्रेलिया ने 15वें ओवर में डीआरएस गंवाया जब पुजारा के खिलाफ हेजलवुड की अपील को मैदानी अंपायर ने नकार दिया। आस्ट्रेलिया ने डीआरएस लिया लेकिन रीप्ले में दिखा कि गेंद बल्लेबाज की जांघ से टकराकर विकेटकीपर के पास पहुंची थी। मेजबान टीम ने शार्ट गेंदबाजी की और बल्लेबाजों के शरीर को निशाना बनाया। पुजारा को दो बार गेंद लगी जिसमें से एक गेंद उनके सिर में लगी। पुजारा पर हालांकि इसका अधिक असर नहीं पड़ा और वह अच्छी लय में दिखे। दाएं हाथ के इस बल्लेबाज ने 134 गेंद में अर्धशतक पूरा किया। उन्होंने लंच से पहले लेग स्पिनर मार्नस लाबुशेन के ओवर में तीन चौके मारे। चाय के बाद भारत ने पांचवीं गेंद पर ही कप्तान कोहली का विकेट गंवा दिया जो हेजलवुड की गेंद को लेग साइड पर खेलने की कोशिश में विकेटकीपर पेन को कैच दे बैठे। पुजारा पर हालांकि कप्तान के आउट होने के असर नहीं दिखा और उन्होंने लियोन पर दो चौके मारे। पुजारा ने स्टार्क पर लगातार दो चौकों के साथ अपना स्कोर 90 रन के पार पहुंचाया। स्टार्क ने बाउंसर पर अजिंक्य रहाणे (18) को पेन के हाथों कैच कराके भारत का स्कोर चार विकेट पर 228 रन किया और पुजारा के साथ उनकी 48 रन की साझेदारी का अंत किया। मेलबर्न टेस्ट में पारी का आगाज करने वाले विहारी ने स्टार्क पर चौके से खाता खोला। पुजारा ने स्टार्क पर चौके के साथ 199 गेंद में 18वां शतक पूरा किया। आस्ट्रेलिया ने 80 ओवर के बाद दूसरी नई गेंद ली लेकिन पुजारा और विहारी ने मेजबान टीम को सफलता से महरूम रखा। भारत ने इस बीच 88वें ओवर में 300 रन पूरे किए। इससे पहले भारत ने टीम में दो बदलाव करते हुए रोहित शर्मा और इशांत शर्मा की जगह राहुल और कुलदीप यादव को मौका दिया।

whatsapp mail