कोकिलाबेन धीरूभाई अंबानी हॉस्पिटल ने प्रो कबड्डी लीग सीजन-6 के लिए जयपुर पिंक पैंथर्स टीम के साथ अपने सहयोग का एलान किया

img

मुंबई
कोकिलाबेन धीरूभाई अंबानी हॉस्पिटल ने आज प्रो कबड्डी लीग सीजन-6 के लिए जयपुर पिंक पैंथर्स टीम के साथ अपने सहयोग की घोषणा की। 7 अक्टूबर 2018 से जनवरी-2019 के पहले सप्ताह तक चलने वाले इस टूर्नामेंट के दौरान हॉस्पिटल पिंक पैंथर्स की टीम के लिए 'स्पोट्र्स मेडिसिन एंड साइस पार्टनर्स' की भूमिका निभाएगा। इस सहयोग के दौरान हॉस्पिटल को स्पोट्र्स, मेडिसिन और इन्फ्रास्ट्रक्चर के क्षेत्र में अपनी विशेषज्ञता को दर्शाने का अवसर मिलेगा। स्पोट्र्स फिजियोथेरेपिस्ट, स्ट्रेंथ एंड कंडीशनिंग ट्रेनर और स्पोट्र्स मसुर प्री-सीजन ट्रेनिंग से लेकर सीजन के अंत तक टीम के साथ यात्रा करेंगे। ये सभी कर्मचारी हर खिलाड़ी को बहुत वैज्ञानिक तरीके से समर्थन प्रदान करने के लिए जिम्मेदार हैं, ताकि खिलाडी अपने प्रदर्शन में लगातार सुधार कर सकें। इस तरह के प्रयास सर्वश्रेष्ठ से प्रतिस्पर्धा करने में खिलाडियों की सहायता करेंगे और चोट की रोकथाम, चोट प्रबंधन, रिकवरी के साथ-साथ उनके कबड्डी कौशल को और बढ़ाने की दिशा में भी उनके लिए मददगार साबित होंगे। कोकिलाबेन धीरूभाई अंबानी अस्पताल के सेंटर फॉर स्पोट्र्स मेडिसिन में, विभिन्न स्पोट्र्स फिजियोलॉजिकल, स्पोट्र्स साइंस एंड स्पोट्र्स बायोमेकेनिकल टेस्टिंग उपकरण के साथ पूरी टीम का परीक्षण किया गया है, ताकि प्री-सीजन में जून 2018 के शुरू में ही बेसलाइन डेटा दर्ज किया जा सके (नीलामी के बाद अवधि)। परीक्षणों ने जयपुर पिंक पैंथर्स के प्रबंधन को खिलाडिय़ों की शुरुआती फिटनेस निर्धारित करने में मदद की और इस तरह स्पोट्र्स साइंस और मेडिसिन टीम को चोटिल होने वाले खिलाडिय़ों की तकलीफों को दूर करने के लिए पर्याप्त समय मिल गया। अगर किसी खिलाडी को चोट लगने पर स्पोट्र्स शल्य चिकित्सक की राय की जरूरत होगी। तो हॉस्पिटल के स्पोट्र्स मेडिसिन के प्रमुख डॉ दिनशॉ पारदीवाला भी खिलाडियों की सहायता करेंगे; देश में स्पोट्र्स ऑर्थोपेडिक सर्जन के बाद डॉ दिनशॉ पारदीवाला की सर्वाधिक मांग है। ऐसे मामलों में, स्पोट्र्स साइंस और पुनर्वास विभाग पुनर्वास की प्रक्रिया को पूरा करने के लिए जिम्मेदार होगा और उसका दायित्व होगा कि खिलाड़ी को जल्द से जल्द वापस कबड्डी के मैदान पर लाया जा सके। इसलिए कहा जा सकता है कि यह एसोसिएशन दोनों पार्टियों के लिए एक अच्छा मंच है। इस सहयोग के जरिए जयपुर पिंक पैंथर्स को खेल विज्ञान और चिकित्सा सहायता के साथ सबसे अच्छे तरीके से प्रदर्शन करने का अवसर मिलेगा और कोकिलाबेन धीरूभाई अंबानी अस्पताल को भी स्पोट्र्स, मेडिसिन और इन्फ्रास्ट्रक्चर के क्षेत्र में अपनी विशेषज्ञता को दर्शाने का मौका मिलेगा। इस सहयोग के बारे में अपने विचार व्यक्त करते हुए कोकिलाबेन धीरूभाई अंबानी अस्पताल, मुंबई के हैड-स्पोट्र्स साइंस एंड रिहैब, कंसल्टेंट स्पोट्र्स मेडिसिन वैभव डागा ने कहा, यह एक शानदार अवसर और एक सिंबियोटिक एसोसिएशन है। हम केडीएएच में सेंटर फॉर स्पोट्र्स मेडिसिन के माध्यम से स्पोट्र्स साइंस एंड मेडिसिन सपोर्ट में हमारी विशेषज्ञता और इंफ्रास्ट्रक्चर का प्रदर्शन कर सकते हैं। साथ ही जयपुर पिंक पैंथर्स को भी सर्वश्रेष्ठ खेल विज्ञान और चिकित्सा सेवा प्रदाताओं में से एक का समर्थन मिलता है। चोट लगना कबड्डी जैसे दिलचस्प और रोमांचक खेलों का एक अनिवार्य हिस्सा है, पर खास बात यह है कि आप इन चोटों से कैसे उबरते हैं और जल्द से जल्द कबड्डी के मैदान पर वापस कैसे आते हैं। यह मेरे लिए और मेरी टीम के लिए एक चुनौती है। हम यह सुनिश्चित करेंगे कि टीम को बेहतरीन सपोर्ट प्रदान किया जाए, ताकि न सिर्फ खिलाडियों की बेहतर शारीरिक स्थिति कायम रहे, बल्कि वे अपनी सर्वोत्तम क्षमताओं के साथ बेहतरीन प्रदर्शन कर सकें। इस अवसर पर जयपुर पिंक पैंथर्स टीम के कप्तान और जाने-माने कबड्डी खिलाडी अनूप कुमार ने कहा, 'यह एसोसिएशन देश में एक बेहतर खेल संस्कृति की ओर एक महत्वपूर्ण कदम है। इससे पहले हमारे पास कबड्डी में ऐसा कोई मेडिकल अटेंशन नहीं था, लेकिन प्रतिस्पर्धा तेजी से बढ़ रही है और हमें असाधारण रूप से प्रदर्शन करना है। कोकिलाबेन धीरूभाई अंबानी अस्पताल ने फिटनेस और मौजूदा चोट के मामले में टीम को अपनी ताकत दिखाने में मदद की है। हम न केवल विशेष पुनर्वास कार्यक्रमों का सपोर्ट मिला, बल्कि हमारे शरीर के वजन और बीएमआई की निगरानी रखने के लिए विशिष्ट आहार भी दिया गया था। सब कुछ हमें कबड्डी के मैदान पर बेहतर प्रदर्शन करने में मदद करता है क्योंकि माहौल बस शुरू होने ही वाला है।

whatsapp mail