बजरंग पूनिया ने भारत को दिलाया पहला गोल्ड मेडल, पीएम मोदी ने दी बधाई

img

जकार्ता
भारतीय रेसलर बजरंग पूनिया ने18 वें एशियाई खेलों में भारत को पहला गोल्ड मेडल दिलवाया। ये मेडल पुनिया ने जापान के रेसलर ताकातिनी दायची को हराकर जीता। बजरंग ने पुरुषों के 65 किलोग्राम भारवर्ग फ्रीस्टाइल स्पर्धा में ये मेडल जीता। जापानी पहलवान को चित्त करते ही बजरंग ने भारत की झोली में पहला स्वर्ण पदक डाल दिया। जापानी पहलवान ने बजरंग को अच्छी टक्कर दी लेकिन उन्होंने फाइनल मुकाबला 11-8 से अपने नाम कर लिया। बजरंग की इस उपलब्धि पर भारत के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने उन्हें बधाई दी। इससे पहले पूनिया ने सेमीफाइनल मुकाबले मंगोलिया के बाटमगनाई बैटचुलुन को 10-0 से मात दे फाइनल में प्रवेश किया। बजरंग ने शुरू से तेज और आक्रामक खेल खेला। मंगोलिया के खिलाड़ी ने हालांकि कुछ देर साहस दिखाया लेकिन जैसे ही बजरंग ने उनको पलटते हुए दो अंक हासिल किए, उनका मनोबल टूट गया। इसके बाद भारतीय खिलाड़ी अपने विपक्षी पर दो-दो अंकों के लगातार चार दांव लगाते हुए 8-0 की बढ़त ले ली। बाटमगनाई बैटचुलुन को इस दौरान आंख के नीचे भी चोट लगी। पहले राउंड की समाप्ति के बाद तक बजरंग ने 8-0 की बढ़त ले ली थी। दूसरे राउंड में बजरंग ने एक और दो अंक का दांव खेल स्कोर 10-0 किया और तकनीकी दक्षता के आधार पर उन्हें विजेता घोषित कर दिया गया। शूटर अपूर्वी चंडेला-रवि कुमार ने जीता कांस्य।
इंडोनेशिया की राजधानी जकार्ता में शनिवार को 18वें एशियाई खेलों के उद्घाटन के बाद रविवार से महाकुंभ में खिलाडिय़ों की जद्दोजहद शुरू हो गई है। प्रतियोगिता में अपने पहले पदक बाट जोह रहे भारत के शूटर अपूर्वी चंदेला और रवि कुमार ने निशानेबाजी की 10 मी. एयर राइफल की मिक्स्ड स्पर्धा में कांस्य पदक जीतकर महाकुंभ में भारत का खाता खोल दिया है। इन दोनों की जोड़ी ने 429.9 का स्कोर किया। इससे पहले अपूर्वी चंदेला और रवि कुमार की जोड़ी ने सुबह फाइनल में जगह बनाई थी। लेकिन 10 मी. एयर पिस्टल में टीम वर्ग में मनु भाकर और अभिषेक वर्मा फाइनल के लिए क्वालीफाई करने से चूक गए। इनके अलावा पुरुष बैडमिंटन टीम ने भी मालदीप को 3-0 से धोकर क्वार्टफाइनल में जगह बना ली, तो टेनिस में दिविज शरण और कामरान थांडी ने भी मिक्स्ड डबल्स में प्री-क्वार्टर फाइनल में जगह बना ली।

whatsapp mail