सीम और स्विंग मिलने से भारतीय गेंदबाज हुए सफल : बुमराह

img

साउथैंप्टन
टेस्ट टीम में वापसी के बाद लगातार अच्छा प्रदर्शन कर रहे भारतीय तेज गेंदबाज जसप्रीत बुमराह ने इस बात से इन्कार किया कि चौथे टेस्ट में भारत ने अच्छी शुरुआत के बाद अपनी पकड़ ढीली कर दी। उन्होंने कहा कि आप हर सत्र में पांच छह विकेट नहीं ले सकते। पहले दिन का खेल खत्म होने के बाद उन्होंने कहा कि ड्यूक गेंद से गेंदबाजी करने में मजा आया। जब मैं पहले दो मैचों के दौरान नहीं खेला तो उस वक्त मैं बाकी गेंदबाजों पर नजर बनाए हुए था। हम पहले बल्लेबाजी करना चाहते थे, लेकिन जैसे ही हमने गेंदबाजी करनी शुरू की तो हमें उम्मीद से ज्यादा सीम और स्विंग मिलने लगी। हमारा प्लान काम करने लगा। गेंद को हमारी अपेक्षा से अधिक मूवमेंट मिल रही थी। हमें खुशी है कि हम दोनों छोर से दबाव बना सके। बुमराह ने कहा कि अच्छी स्विंग मिलता देख मैंने विचार किया कि केटन जेनिंग्स के खिलाफ क्यों ना ज्यादा से ज्यादा इनस्विंग कराई जाए। यहां तक की जब गेंद रिवर्स नहीं हो रही थी तो भी बल्लेबाज गेंद की शाइन देखने का प्रयास कर रहा था। मैं अक्सर उसे छुपा लेता हूं। हमने बीच-बीच में अच्छी गेंदबाजी नहीं की। बुमराह ने कहा कि इंग्लैंड ने भी अच्छा खेला। सैम कुर्रन और मोइन अली ने अच्छी साझेदारी की। कुर्रन ने शुरू में संभलकर खेला। गेंद पुरानी होने पर स्विंग नहीं ले रही थी और सीम भी नहीं मिल रही थी। बाद में उन्होंने तेजी से रन बनाने शुरू किए। ब्रेक के बाद हमने तय किया कि विकेट के लिए अतिरिक्त प्रयास करने होंगे। आपको लालच और अधिक अपेक्षाओं से बचना होता है।
 उनके छह विकेट 86 रन पर थे और वे 100 रन पर भी आउट हो सकते थे। हमें कोई दुख नहीं कि उन्होंने इतने रन बनाए। हम भी अच्छी बल्लेबाजी करके दबाव बना सकते हैं। 

whatsapp mail