नीरज चौपड़ा का लक्ष्य एशियाई खेलों में सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन करने पर

img

जकार्ता
एशियाई खेलों में भारत के सबसे बड़े पदक दावेदारों में से एक भालाफेंक खिलाड़ी नीरज चौपड़ा दबाव में फंसना नहीं चाहते हैं और जकार्ता तथा पालेमबांग में होने वाले एशियाई खेलों में अपना सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन करने पर ध्यान दे रहे हैं। इन खेलों के उद्घाटन समारोह में 20 साल के नीरज भारतीय दल की अगुवाई करेंगे। इस युवा खिलाड़ी ने कहा कि उद्धाटन समारोह में देश का झंडा लेकर चलना सम्मान की बात है। नीरज ने कहा, इस प्रतिष्ठित आयोजन में भारतीय दल की अगुवाई करना और देश का झंडा लेकर चलना मेरे लिए सम्मान की बात है। एशियाई खेलों में जहां तक मेरी तैयारियों की बात है, मैं यह कहना चाहता हूं कि मैं पदक या स्थान के बारे में नहीं सोच रहा हूं। मैं अपना सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन करना चाहता हूं। नीरज किसी विश्व चैम्पियनशिप में स्वर्ण पदक जीतने वाले पहले भारतीय खिलाड़ी है। उन्होंने 2016 युवा विश्व चैम्पियनशिप में स्वर्ण पदक जीता था। इस साल वह शानदार फार्म में है और भाला 85 मीटर से दूर फेंक रहे हैं। उन्होंने मई में दोहा डायमंड लीग में 87.43 मीटर भाला फेंककर राष्ट्रीय रिकार्ड बनाया था। खास बात यह है कि इस साल भाला फेंक में एशियाई एथलीटों द्वारा किये गये पांचों सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन नीरज के नाम ही हैं। जकार्ता में उनके सबसे बड़े प्रतिस्पर्धियों में चीनी ताइपे के चाओ सुन-चेंग होंगे, जिनके नाम 91.36 मीटर का एशियाई रिकॉर्ड है। चेंग का प्रदर्शन हालांकि काफी अनियमित रहा है और वह बड़े टूर्नामेंटों में अपना सर्वश्रेष्ठ करने में नाकाम रहे हैं। पिछले साल एशियाई चैम्पियपशिप में 80.03 मीटर के साथ वह छठे स्थान पर थे। नीरज का लक्ष्य स्वर्ण का होगा तो उनके भारतीय प्रतिद्वंद्वी शिवपाल सिंह भी शीर्ष तीन में रहना चाहेंगे।उन्होंने अंतरराज्यीय चैम्पियनशिप में 82.28 मीटर दूर भाला फेंक कर एशियाई खेलों में जगह बनाई।

whatsapp mail