इग्लैंड के खिलाफ चौथे टेस्ट मैच में भारतीय खिलाडिय़ों के हौंसले बुलंद

img

साउथम्पटन
एजेस बाउल स्टेडियम में टीम इंडिया ने शत-प्रतिशत इंग्लिश परिस्थितियों में अभ्यास किया। मैच की मुख्य पिच पर हल्की घास है और यह बिलकुल जीवंत नजर आ रही है। आसमान में बादल हैं जो तेज गेंदबाजों की मदद करेंगे। अगर मैच से पहले पिच से घास नहीं निकाली गई तो एक बार फिर तेज गेंदबाजों और बल्लेबाजों के बीच जंग देखने को मिल सकती है। पांच मैचों की सीरीज के शुरुआती दो मैच जीतने के बाद ट्रेंट ब्रिज में मिली हार ने इंग्लैंड को अपनी रणनीति पर दोबारा सोचने को मजबूर कर दिया है और एक बार फिर टीम अपनी मजबूती यानी तेज गेंदबाजी के लिए उपयुक्त कंडीशन के साथ मेहमानों पर प्रहार करना चाहेगी। यहां की पिच उसी तरफ इशारा कर रही है। भारतीय बल्लेबाजों ने तीसरे टेस्ट में शानदार प्रदर्शन किया था और टीम प्रबंधन चाहेगा कि गुरुवार से शुरू होने वाले चौथे टेस्ट में भी वे ऐसा ही करें। इस मैच के लिए इस्तेमाल होने वाली पिच भले ही जीवंत नजर आ रही हो, लेकिन इस मैदान को सबसे ज्यादा रन बनने वाले इंग्लैंड के घरेलू मैदान के तौर पर जाना जाता है। यहां प्रति विकेट रन औसत 34.10 है जो इंग्लैंड में सबसे ज्यादा है। यहां पर तेज गेंदबाजों ने इस सत्र के छह घरेलू मैचों में 30.97 के औसत से 122 विकेट लिए हैं, जबकि स्पिनरों को 33.86 के औसत से 23 विकेट मिले हैं। जैसा हमने पहले बताया था, टीम इंडिया के यहां पहले अभ्यास को देखने के बाद वैसा ही होते हुए दिखाई दे रहा है। टीम इंडिया ने जिस तरह बल्लेबाजी और गेंदबाजी का अभ्यास किया उससे लगता है कि यह विराट कोहली की कप्तानी में पहला मौका होगा। जब टीम इंडिया अपने पिछले एकादश को बरकरार रखते हुए अगले मैच में उतरेगी। मालूम हो कि विराट ने अपनी कप्तानी में लगातार 38 टेस्ट में अलग-अलग टीम उतारी है, लेकिन ट्रेंट ब्रिज की जीत के बाद उन्हें यहां के लिए बेहतर संयोजन मिल गया है। टीम इंडिया पांच मैचों की सीरीज में 1-2 से पीछे चल रही है, लेकिन तीसरा टेस्ट जीतने के बाद वह लंदन पहुंच गई थी और वहीं आराम कर रही थी।

whatsapp mail