भारत ने दिखाया दम, तीसरे टेस्ट में इंग्लैंड को 203 रन से हराया

img

नाटिंघम
भारत ने तीसरे क्रिकेट टेस्ट में पांचवें और अंतिम दिन आज यहां इंग्लैंड को 203 रन से हराकर पांच मैचों की श्रृंखला में अपनी उम्मीदों को जीवंत रखा। भारत को मैच के पांचवें और अंतिम दिन जीत के लिए सिर्फ एक विकेट की दकरार थी और मेहमान टीम ने आज सिर्फ 2.5 ओवर में जीत की औपचारिकता पूरी की। इंग्लैंड की टीम भारत के 521 रन के लक्ष्य का पीछा करते हुए 317 रन पर ढेर हो गई। भारत की टीम भी श्रृंखला में 1-2 से पीछे है लेकिन इस जीत से उसने एजबस्टन में दिल तोडऩे वाली हार और लार्ड्स में बेहद लचर प्रदर्शन की कुछ हद तक भरपाई की। इंग्लैंड के अंतिम विकेट आफ स्पिनर रविचंद्रन अश्विन के खाते में गया जिन्होंने जेम्स एंडरसन (11) को अजिंक्य रहाणे के हाथों कैच कराया। भारतीय टीम के लिए सबसे महत्वपूर्ण यह रहा कि उसने लगभग पूरे मैच के दौरान दबदबा बनाए रखा और विराट कोहली के नेतृत्व में उपमहाद्वीप के बाहर एक बार फिर शानदार प्रदर्शन किया।
सलामी बल्लेबाजों लोकेश राहुल और शिखर धवन ने दोनों पारियों में ठोस बल्लेबाजी की। तेज गेंदबाजों इशांत शर्मा (32 रन पर दो विकेट और 70 रन पर दो विकेट), मोहम्मद शमी (56 रन पर एक विकेट और 78 रन पर एक विकेट) ने सटीक लाइन और लेंथ से गेंदबाजी की जबकि जसप्रीत बुमराह (37 रन पर दो विकेट और 85 रन पर पांच विकेट) और हार्दिक पंड्या (28 रन पर पांच विकेट और 22 रन पर एक विकेट) ने मैच में क्रमश: सात और छह विकेट हासिल किए। पंड्या ने दूसरी पारी में नाबाद अर्धशतक भी जड़ा।
उप कप्तान अजिंक्य रहाणे (पहली पारी में 81) और टेस्ट विशेषज्ञ चेतेश्वर पुजारा (दूसरी पारी में 72 रन) भी उम्दा पारियां खेलने में सफल रहे। भारत ने स्लिप कैचिंग में भी बेहतर प्रदर्शन किया जिसमें राहुल ने सात कैच लपके। ऋषभ पंत ने क्रीज पर बिताए समय के दौरान दिखाया कि आखिर क्यों उन्हें इतना प्रतिभावान माना जाता है। पंत को भले की अपनी विकेटकीपिंग पर काम करने की जरूरत है लेकिन पहली पारी में उनके पांच विकेट ने दर्शाया कि नियमित टेस्ट विकेटकीपर रिद्धिमान साहा के फिट होने पर टीम में वापसी करना बेहद आसान भी नहीं होगा। कप्तान विराट कोहली की बेहतरीन फार्म इस टेस्ट में भी जारी रही जो अब तक दोनों टीमों में सर्वश्रेष्ठ बल्लेबाज रहे हैं। तीसरे टेस्ट में 97 और 103 रन की पारी की बदौलत श्रृंखला में अब उनके नाम पर 440 रन दर्ज हैं। उन्होंने तीसरे टेस्ट की तरह पहले टेस्ट में भी 200 रन बनाए थे। छह पारियों में दो शतक और दो अर्धशतक के साथ कोहली ने सुनिश्चित किया है कि फिलहाल दुनिया का सर्वश्रेष्ठ बल्लेबाज कौन है इसे लेकर कोई बहस नहीं हो। श्रृंखला में सर्वाधिक रन बनाने वालों की सूची में जानी बेयरस्टा 206 रन के साथ दूसरे नंबर पर हैं जबकि पहले टेस्ट शतक जडऩे के बाद जोस बटलर 170 रन के साथ तीसरे स्थान पर हैं। पंड्या 160 रन के साथ भारत के दूसरे सबसे सफल बल्लेबाज हैं लेकिन पहले दो टेस्ट में खराब प्रदर्शन के बाद यहां बल्लेबाजों का बेहतर प्रदर्शन भारत के लिए सकारात्मक संदेश है।

whatsapp mail