आईएसएसएफ चैंपियनशिप : भारत को जूनियर निशानेबाजी में दो और पदक

img

चांगवोन
उदयवीर सिंह ने जूनियर पुरुष 25 मीटर पिस्टल स्पर्धा में व्यक्तिगत स्वर्ण पदक जीतने के अलावा गुरुवार को विश्व निशानेबाजी चैंपियनशिप में भारत को टीम स्पर्धा का स्वर्ण पदक दिलाने में भी मदद की। सोलह साल के उदयवीर ने व्यक्तिगत वर्ग में 587 (प्रीसीजन में 291 और रैपिड में 296) का स्कोर बनाकर अमेरिका के हेनरी लेवरेट (584) और कोरिया के ली जेइक्यून (582) को पछाड़कर स्वर्ण पदक जीता। भारत के ही विजयवीर सिद्धू 581 अंक के साथ चौथे स्थान पर रहे। राजकंवर सिंह संधू ने 568 अंक के साथ 20वां स्थान हासिल किया। भारतीय तिकड़ी ने 1736 अंक के साथ टीम स्वर्ण पदक जीता। चीन ने 1730 अंक के साथ रजत जबकि कोरिया ने 1721 अंक के साथ कांस्य पदक हासिल किया। सीनियर स्पर्धा में शीराज शेख पुरुष स्कीट क्वालीफिकेशन के पहले दिन के बाद 49 अंक के साथ आठवें स्थान पर चल रहे हें। अंगद वीर सिंह 47 के स्कोर से 69वें जबकि मेराज अहमद 41 के स्कोर के साथ 79वें स्थान पर हैं। भारतीय टीम 137 अंक के साथ 16वें स्थान पर चल रही है। भारत को 25 मीटर सेंटर फायर पिस्टल में भी कोई पदक नहीं मिला। गुरप्रीत सिंह 581 अंक के साथ 10वें स्थान पर रहे जबकि लंदन ओलंपिक के रजत पदक विजेता विजय कुमार उनसे पीछे रहे। विजय ने 576 अंक के साथ 24वां स्थान हासिल किया। उनसे एक स्थान पीछे राष्ट्रमंडल खेलों के स्वर्ण पदक विजेता अनीश भानवाला रहे जिन्होंने यही स्कोर बनाया लेकिन अंदरूनी 10 अंक के कम स्कोर के कारण वह पीछे रहे। भारतीय टीम 1733 अंक के साथ चौथे स्थान पर रही। भारतीय टीम नौ स्वर्ण, आठ रजत और सात कांस्य पदक के साथ कुल 24 पदक जीतकर चौथे स्थान पर चल रही है। अंतरराष्ट्रीय निशानेबाज खेल महासंघ की इस प्रतिष्ठित प्रतियोगिता में यह भारत का सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन है। भारत तोक्यो ओलंपिक 2020 की इस पहली क्वालीफाइंग प्रतियोगिता से दो कोटा स्थान हासिल करने में सफल रहा है।

whatsapp mail