अभिनव बिंद्रा ने बढ़ाया देश का मान, खेल के सबसे बड़े 'द ब्लू क्रॉसÓ सम्मानित 

img

खेल डेस्क
भारत के एक मात्र ओलंपिक गोल्ड मेडलिस्ट अभिनव बिंद्रा ने एक बार फिर देश का नाम गर्व से ऊंचा कर दिया। शुक्रवार को आईएसएसएफ ब्लू क्रॉस पुरस्कार से सम्मानित किया गया। यह अवार्ड हासिल करने वाले वे पहले भारतीय बन गए हैं। अंतरराष्ट्रीय निशानेबाजी की शीर्ष संस्था आईएसएसएफ की ओर से दिया जाने वाला सबसे बड़ा सम्मान ब्लू क्रॉस है और 36 वर्षीय बिंद्रा पहले भारतीय शूटर हैं, जिन्हें यह सम्मान मिला है। यह अवॉर्ड निशानेबाजी के खेल में उत्कृष्ट योगदान के लिए दिया जाता है। बिंद्रा ने अपने कॅरियर में एक ओलंपिक गोल्ड मेडल (साल 2008 में), एक वल्र्ड चैंपियनशिप गोल्ड मेडल (2006) और 7 कॉमनवेल्थ गेम्स गोल्ड मेडल जीते हैं। इसके अलावा उनके नाम 3 एशियन गेम्स मेडल भी हैं। साल 2008 में बीजिंग में हुए ओलंपिक गेम्स की 10 मीटर एयर राइफल स्पर्धा में गोल्ड मेडल जीतने के बाद वह देशभर में छा गए थे। उन्हें साल 2000 में अर्जुन अवॉर्ड और 2001 में राजीव गांधी खेल रत्न से नवाजा जा चुका है। साल 2009 में उन्हें पद्मभूषण सम्मान मिला था। 2016 रियो ओलंपिक में अपने दूसरे ओलिंपिक मेडल से चूकने के बाद बिंद्रा ने 33 साल की उम्र में रिटायरमेंट का फैसला किया था। 
 

whatsapp mail