टेबल टेनिस में 2018 के प्रदर्शन ने जगायी ओलंपिक पदक की उम्मीद

img

नई दिल्ली
भारतीय टेबल टेनिस ने वर्ष 2018 में विश्व में अपनी खास पहचान बनायी तथा जहां मनिका बत्रा ने राष्ट्रमंडल खेलों में अभूतपूर्व प्रदर्शन किया वहीं एशियाई खेलों में भारत ने दो ऐतिहासिक पदक हासिल किये। भारत के सर्वश्रेष्ठ खिलाड़ी शरत कमल ने इस साल में टेबल टेनिस में भारतीय प्रदर्शन के बारे में कहा, 'दो पदकों की तो बात छोडिय़े अगर साल के शुरू किसी ने कहा होता कि हम एशियाई खेलों में एक पदक जीतेंगे तो मैं उसे मजाक समझता। यह इस तरह का साल रहा। यह मेरे लिये और भारतीय टेबल टेनिस के लिये सर्वश्रेष्ठ वर्ष रहा। शरत की अगुवाई वाली भारतीय पुरूष टीम ने जकार्ता एशियाई खेलों में कांस्य पदक जीता। उसने क्वार्टर फाइनल में जापान को हराया था। यही नहीं शरत और मनिका ने मिश्रित युगल में भी कांस्य पदक हासिल किया। एशियाई खेलों में टेबल टेनिस को 1958 में शामिल किया गया था और यह पहला अवसर था जबकि भारत इसमें पदक जीतने में सफल रहा। इस खेल ने जहां लंबी छलांग लगायी वहीं भारत को मनिका के रूप में एक नयी स्टार भी मिली। उन्होंने राष्ट्रमंडल खेलों में महिला टीम और महिला एकल में स्वर्ण सहित कुल चार पदक जीते।

whatsapp mail