मियामी ओपन के फाइनल में प्लिस्कोवा को हराकर एश्ले बार्टी बनीं चैम्पियन

img

मियामी
ऑस्ट्रेलियाई की एश्ले बार्टी ने यहां डब्ल्यूटीए मियामी ओपन के फाइनल में उलटफेर करते हुए पांचवी वरीयता प्राप्त चेक गणराज्य की कैरोलीना प्लिस्कोवा को शिकस्त देकर अपने एकल करियर का सबसे बड़ा खिताब जीता। 22 साल की इस खिलाड़ी ने प्लिस्कोवा को 7-6, 6-3 से मात दी। बार्टी मियामी ओपन की चैम्पियन बनने के बाद रैंकिंग में 11वें से नौवें स्थान पर पहुंच जाएंगी। वह डब्ल्यूटीए रैंकिंग में समांथा स्टॉसर (2013) के बाद शीर्ष 10 में जगह बनाने वाली दूसरी ऑस्ट्रेलियाई खिलाड़ी बनेंगी। विम्बलडन जूनियर का खिताब 15 बरस की उम्र में जीतने वाली बार्टी ने पांच साल पहले मानसिक तनाव का हवाला देते हुए टेनिस छोड़ क्रिकेट का रूख किया था।उन्होंने फरवरी 2016 में फिर से इस खेल में वापसी की और वह पिछले साल सितंबर में अमेरिकी ओपन का युगल खिताब जीतने में सफल रही थी। 

whatsapp mail