ओसाका ने आस्ट्रेलियाई ओपन और नंबर वन का ताज अपने नाम किया

img

मेलर्ब
जापान की नाओमी ओसाका ने चेक गणराज्य की पेत्रा क्वितोवा को तीन सेटों के रोमांचक मुकाबले में हराकर आस्ट्रेलियाई ओपन महिला एकल खिताब जीत लिया और दुनिया की नंबर एक खिलाड़ी भी बन गई। चौथी वरीयता प्राप्त और अमेरिकी ओपन चैम्पियन ओसाका ने दो घंटे 27 मिनट तक चले मुकाबले में 7.6, 5.7, 6.4 से जीत दर्ज की। वह नंबर वन रैंकिंग हासिल करने वाली पहली एशियाई (महिला और पुरुष दोनों में) खिलाड़ी बन गई। उसने जीत के बाद कहा, ''मैं पूरे पुरस्कार वितरण समारोह में मानों सदमे में थी। इससे पहले ओसाका ने अमेरिकी ओपन फाइनल में सेरेना विलियम्स को हराया था जब दर्शकों की हूटिंग की वजह से वह रो पड़ी थी। इस बार उसकी आंख में खुशी के आंसू थे क्योंकि 1998 में मार्तिना हिंगिस के बाद लगातार दो ग्रैंडस्लैम जीतने वाली वह सबसे युवा खिलाड़ी बन गई । इसके अलावा 2010 में कैरोलिन वोज्नियाकी के बाद सबसे युवा नंबर एक खिलाड़ी भी बनी। क्वितोवा ने भी मेलबर्न पार्क पर अपना सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन किया और फाइनल तक पहुंचने में उसने एक सेट भी नहीं गंवाया था। 2016 में एक चोर ने जब उसके रैकेट थामने वाले हाथ को घायल कर दिया था, उसके बाद से वापसी करके वह यहां तक पहुंची है।

whatsapp mail