प्रदेश में 2500 स्कूल बने फाइव स्टार : देवनानी

img

अजमेर
शिक्षा एवं पंचायतीराज राज्यमंत्री वासुदेव देवनानी ने कहा कि पिछले पौने पांच सालों में राजस्थान की शिक्षा ने एतिहासिक प्रगति हासिल की है। इन सालों में बोर्ड परीक्षाओं का परिणाम 57 प्रतिशत से बढ़कर अब 80 प्रतिशत तक पहुंचने लगा है। राजस्थान के 14 हजार में से ढाई हजार स्कूलों ने औसत परीक्षा परिणाम से अधिक परिणाम दिया है। इन सभी स्कूलों को फाइव स्टार स्कूल के रूप में सम्मानित किया जा रहा है। शिक्षा एवं पंचायतीराज राज्यमंत्री वासुदेव देवनानी ने कहा कि मुख्यमंत्री  वसुंधरा राजे के नेतृत्व में पिछले पौने पांच साल में राजस्थान ने अभूतपूर्व तरक्की की है। शिक्षा के क्षेत्र में हम 26वें से दूसरे स्थान पर आ गए हैं। उन्होंने कहा कि हमारे कार्यकाल में राजस्थान के स्कूलों ने एक नई करवट ली है। अब स्कूलों को स्टार रेटिंग दी जा रही है। औसत परिणाम से ज्यादा परिणाम देने वाले राज्य के ढाई हजार स्कूलों को फाइव स्टार स्कूल के रूप में सम्मानित किया जा रहा है। अजमेर जिले में 99 स्कूलों ने फाइव स्टार रेटिंग हासिल की है। राजस्थान के स्कूलों में 3500 करोड़ रुपए के विकास कार्य कराए गए हैं। अजमेर शहर के स्कूलों में 15 करोड़ के निर्माण कार्य हुए हैं। आजादी के बाद पहली बार स्कूलों में एक साथ इतने काम हुए। देवनानी ने कहा कि विद्यार्थियों के लिए सुविधाओं का तो विस्तार हुआ ही, हमने शिक्षकों की समस्याओं का भी समाधान किया है। राज्य में एक लाख शिक्षकों की भर्ती के साथ ही करीब सवा लाख शिक्षकों को पदोन्नति दी गई है। राज्य में शिक्षा विभाग के कैडर को बढ़ाया गया है।
शिक्षा राज्यमंत्री ने कक्षा-कक्षों व भारत दर्शन गलियारे का लोकार्पण किया। कार्यक्रम में संभाग, जिला एवं 6 ब्लॉक स्तर शिक्षकों को सम्मानित किया गया। इस अवसर पर महापौर धमेन्द्र गहलोत, जिला शिक्षा अधिकारी श्याम सांगावत सहित बड़ी संख्या में शिक्षक उपस्थित थे।