सरकार या मुख्यमंत्री का कोई चेहरा नही होता : जितेन्द्र सिंह

img

अलवर
प्रदेश में आचार संहिता लगने के बाद चुनावी सरगर्मी तेज हो गई है। इस बीच अलवर आए पूर्व केंद्रीय मंत्री जितेंद्र सिंह ने कहा कि सरकार या मुख्यमंत्री का कोई चेहरा नहीं होता है। पार्टी के कार्यकर्ता व पदाधिकारी मुख्यमंत्री चुनते हैं। पहली बार देखने को मिला है कि किसी सरकार से सब दुखी हो। यह सरकार केवल विजय माल्या व नीरव मोदी जैसे लोगों के लिए अच्छी है या केवल देश को लूटने वाले बड़े व्यापारी के लिए बेहतर है। आम आदमी व सभी वर्ग परेशान व दुखी है। विधानसभा चुनाव की तारीख का एलान होने के बाद टिकट के दावेदारों की हलचल तेज हो गयी है। अलवर जिले की बात करे तो यहा भी ग्यारह विधानसभा क्षेत्रों में अभी कांग्रेस के पास अभी एक ही विधायक है। ऐसे में कांग्रेस के टिकिट के दावेदारों की कतार लगी हुई है। पूर्व केंद्रीय मंत्री जितेंद्र सिंह के निवास फूलबाग में टिकिट के दावेदारों का जमावड़ा देखा गया। नेता व लोग दावेदारों के साथ पूर्व केंद्रीय मंत्री से मिले और टिकिट की दावेदारी जताई। इस मौके पर पूर्व केंद्रीय मंत्री ने कहा कि पार्टी ओर विद्गायक ही मुख्यमंत्री चुनते है। इस मुद्दे को लेकर बीजेपी राजनीति कर रही है। उन्होंने कहा को बीजेपी अगर वसुन्दरा की जगह कोई दूसरा मुख्यमंत्री घोषित करे। तो बीजेपी को कुछ सीट मिल सकती है। उन्होंने कई सवालों के जबाब देते हुए कहा कि पार्टी के सर्वे की मेरिट में आने वालो को ही टिकिट देगी। राहुल गांधी की तरफ से टिकिट में पारदर्शिता बरती जा रही है। कई तरह के सर्वे किए जा रहे है। जिला व प्रदेश स्तर पर कई तरह की समिति इस पूरी प्रकिया में काम कर रही है। इस बार जनता इस सरकार को सबक सिखाएगी। भाजपा सरकार का प्रदेश में नामों निशान समाप्त हो जाएगा।