जिले में 17 लाख 21 हजार 499 मतदाता नाम जुड़वाने का काम सतत जारी

img

भरतपुर
विशेष संक्षिप्त पुनरीक्षण कार्यक्रम के अन्तर्गत शुक्रवार, 22 फरवरी को मतदाता सूचियों का अन्तिम प्रकाशन किया गया। इस प्रकाशन के बाद जिला निर्वाचन अधिकारी डॉ. आरूषि अजेय मलिक ने राजनीतिक दलों के प्रतिनिधियों और मीडियाकर्मियों की कलेक्ट्रेट में बैठक लेकर इस कार्यक्रम तथा लोकसभा आम चुनाव- 2019 की तैयारियों की जानकारी दी तथा उनसे सुझाव व सहयोग मॉंगा। जिला निर्वाचन अधिकारी ने बताया कि इस प्रकाशन  के बाद वर्तमान में जिले में 17 लाख 21 हजार 499 मतदाता हैं। इनमें 918206 पुरूष तथा 803293 महिला मतदाता हैं। इनमें कामां में 239433, नगर में 225681, डीग-कुम्हेर में 238841, भरतपुर में 259352, नदबई में 265536, वैर में 251214 एवं बयाना में 241342 मतदाता हैं। मतदाता सूची के विशेष संक्षिप्त पुनरीक्षण कार्यक्रम के दौरान गत 26 दिसम्बर के बाद जिले की समस्त विधानसभा क्षेत्रों में 43295 मतदाताओं के नाम मतदाता सूचियों में जोडे गये जबकि 14621 मतदाताओं के नाम मतदाता सची से विभिन्न कारणों से हटाये गये जिनमें कामां में 7604 मतदाता जोडे गये एवं 1398 हटाये गये, नगर में 4285 का नाम जोडा एवं 1517 का काटा, डीग-कुम्हेर में 6885 नाम जोडे एवं 2454 के नाम हटाये, भरतपुर में 7813 जोडेे एवं 3165 हटाये, नदबई में 6461 जोडेे एवं 2344 हटाये, वैर में 4742 जोडे एवं 1414 हटाये तथा बयाना में 5505 मतदाता जुडे एवं 2329 मतदाताओं के नाम हटाये गये। जिला निर्वाचन अधिकारी ने सभी राजनैतिक दलों से सहयोग की अपील की। उन्होंने कहा कि समय पर बीएलओ एजेन्ट नियुक्त करें जिससे मतदाता सूची में कोई त्रुटि न हो। लोकतन्त्र में सबको 1 वोट देने का अधिकार है लेकिन जागरूकता के अभाव में कई पात्रों ने नाम नहीं जुडवा रखा है, वहीं कुछ लोगों के नाम एक से अधिक सूची में दर्ज है। सभी राजनीतिक दल, मीडिया व जागरूक व्यक्ति इस कमी को दूर करने में चुनाव आयोग का सहयोग करें। 
जिला निर्वाचन अधिकारी ने बताया कि लोकसभा चुनाव में अधिग्रहित वाहनों के चालक व परिचालक को बैलेट पेपर समय पर जारी करेंगे जिससे कोई भी मतदान से वंचित न रहे। उन्होंने सी विजिल ऐप के बारे मेंं भी जानकारी दी तथा एमसीएमसी के दायित्व भी समझाये। मतदाता सत्यापन और सूचना कार्यक्रम (वीवीआईपी) के अंतर्गत आगामी 2 और 3 मार्च को जिले के सभी मतदान केंद्रों पर विशेष अभियान के तहत पात्र मतदाताओं के नाम जोड़े जाएंगे। दोनों दिन प्रात: 9 से सायं 6 बजे तक बीएलओ जिले के सभी मतदान केंद्रों पर उपस्थित रहकर आवेदन लेंगे। जिन मतदाताओं की उम्र 1 जनवरी, 2019 को 18 वर्ष पूरी हो चुकी है, वे मतदाता अपना नाम मतदाता सूची में नाम जुड़वाने के लिए आवेदन कर सकते हैं। मतदाता सूचियों में नाम जोडऩे का कार्य इन तिथियों के आगे भी चलता रहेगा। नामांकन दाखिल करने की अंतिम तिथि से 10 दिन पहले तक पात्र मतदाता अपना नाम मतदाता सूची में दर्ज करवा सकता है। उन्होंने राजनीतिक दलों के प्रतिनिधियों से बूथ स्तर के अभिकर्ताओं को भी इन दोनों दिन उपस्थित रहते हुए प्रविष्टियों का सत्यापन कर बीएलओ को सहयोग प्रदान करने का आग्रह किया है। उप जिला निर्वाचन अधिकारी नारायण सिंह चारण ने बताया कि जिन मतदाताओं के नाम पूर्व में मतदाता सूचियों में है, वे भी अपना नाम मतदाता सूची में एक बार जांच लें। निर्वाचन आयोग द्वारा 'मतदाता सत्यापन एवं सूचना कार्यक्रम' कार्यक्रम के अंतर्गत मतदाता सूची में नाम खोजने एवं नाम जुड़वाने के लिए कई तरह की सुविधाएं दी गई हैं। कोई भी व्यक्ति मुख्य निर्वाचन अधिकारी, राजस्थान की वेबसाइट ूूू.बमवतंरेंजींद.दपब.पद से या ूूू.दअेच.पद के माध्यम से मतदाता सूची में अपनी प्रविष्टि की जानकारी प्राप्त कर सकता है। इसके अलावा निर्वाचन विभाग के मोबाइल एप राज-इलेक्शन के माध्यम से भी अपनी प्रविष्टि की जानकारी प्राप्त की जा सकती है। इसके अलावा जिला निर्वाचन अधिकारी कार्यालय के कॉल सेंटर 1950 के माध्यम से भी नाम की जानकारी प्राप्त की जा सकती है। बैठक में प्रशिक्षु आईएएस अक्षय गोदारा, बीजेपी के जिला महामंत्री शिवराज सिंह तमरौली, जिला उपाध्यक्ष अनिल कुमार माथुर, जिला मंत्री मुकेश सिंघल, शहर महामंत्री चन्द्रवीर सिंह, गिरधारी गुप्ता, शहर कांग्रेस कमेटी प्रवक्ता लोकेश सोगरवाल, हीतेश हन्तरिया, जिला उपाध्यक्ष प्रवक्ता भगवान कटारा, बसपा दिनेश सिंह, बसपा के जिला प्रभारी अरविन्द कुलवारिया, बसपा की लोकसभा प्रभारी विद्यारानी, बसपा जिलाध्यक्ष जगनसिंह, कम्युनिस्ट पार्टी ऑफ इन्डिया के जिला सचिव उमेश खण्डेलवाल, जिला कोषाध्यक्ष बांके बिहारी अग्रवाल भी उपस्थित रहे।